सचेत

घरेलू कामों में लड़कों को बेहतर बनाने के लिए, इस स्कूल ने लड़कों के लिए “होम इकोनॉमिक्स” की शुरुआत की

तर्कसंगत

April 12, 2019

SHARES

आज की तेज-तर्रार, प्रतिस्पर्धा से भरी, प्रौद्योगिकी से चलने वाली दुनिया में, हम सभी को जीवन में सर्वश्रेष्ठ हासिल करने के लिए कठिन संघर्ष करना पड़ता है. माता-पिता अपने बच्चों को सर्वोत्तम संभव शिक्षा देते हैं, लेकिन उन्हें यह सिखाना भूल जाते हैं कि कैसे घर के बाहर स्वतंत्र रहा जाये और बिना किसी बाहरी मदद के घर के कामकाज कर सके.

 

होम इकोनॉमिक्स का परिचय

जीवन शैली के बारे में इन चिंताओं को समझते हुए, एक स्पेनिश कॉलेज ने बच्चों को कपड़े आयरन करने, खाना पकाने, सफाई, बिस्तर लगाने और कपड़े धोने के लिए स्कूल में पढ़ाए जाने वाले अन्य विषयों के बीच “होम इकोनॉमिक्स” की पेशकस की है.

उत्तर पश्चिमी स्पेन के पास एक शहर, विगो में स्थित, कोलेजियो मोंटकास्टेलो इंस्टिट्यूट में हो रहा है. पाठ्यक्रम अन्य विषयों के कार्यक्रमों के साथ समानांतर चलेगा, जिसके लिए प्रशिक्षक, शिक्षकों और कुछ छात्रों के पिता को छात्रों को पढ़ाने की जिम्मेदारी दी गई थी.

प्रारंभ में, जब यह विचार स्कूल में पेश किया गया था, तब छात्रों को खाना बनाना सिखाया जाता था. लेकिन कपड़े धोना / कपड़े आयरन करना, या घर को कैसे साफ करना है और कैसे साफ-सुथरा रखना है, यह सिखाना बाकी रह गया था. सभी मुश्किलों के बावजूद, होम इकोनॉमिक्स का कार्य जारी रहा और विवेकपूर्ण सफलता के साथ, कई युवाओं ने पाया कि वह उन चीजों को करने में बहुत सक्षम हैं, जिनकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी.

 

 

बच्चों द्वारा सकारात्मक परिणाम

यह जानने के बाद कि होम इकोनॉमिक्स ने बच्चों को क्या पढ़ाया है, माता-पिता ने देखा कि जिन बच्चों को घर के काम में कभी दिलचस्पी नहीं थी, वह अब घर के कामों में बराबर योगदान दे रहे हैं. इस विचार ने न केवल बच्चों को घर का काम सिखाया, बल्कि इससे उन्हें एक अच्छा नागरिक बनने में भी मदद मिली. वास्तव में, कम उम्र में घरेलू काम सीखने से, लोगों को बाद में बड़े होने पर बहुत मदद मिल सकती है.

 

 

होम इकोनॉमिक्स क्या है

अब यहाँ सवाल यह है कि यह शब्द “होम इकोनॉमिक्स” क्या है? यह सिर्फ दक्षता, आराम और स्थिरता के साथ घरेलू इकाइयों के संचालन का विज्ञान है. साफ-सुथरा कमरा, साफ-सुथरे कपड़े और घरेलू काम करने का यह विचार आम तौर पर आम नहीं है, लोगों ने इन्हें मिलिट्री स्कूल की विशेषताओ का करार दिया और लोगों का कहना है जैसे कि 70 के दशक में यह सिर्फ लड़कियों के लिए हैं, लड़कों को बाहर के काम करना होता है और लड़कियों को घर का प्रबंधन करना पड़ता है ताकि भविष्य में जब वह शादी कर सके तो वह शायद एक अच्छी गृहिणी बन सके. लेकिन समय बदलता है, स्थिति बदलती है और इसी तरह की मानसिकता भी बदलती है और जब हमारा युवा समाज समानता और लिंग संतुलन की मांग करता है, तो हमें इस बात को स्वीकार करना होगा कि स्पेनिश लोग अपने छात्र को पढ़ाने के द्वारा क्या सिखा रहे हैं (इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनका लिंग क्या है) उन्हें अपने जीवन का प्रबंधन कैसे करें, या मायने रखता है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...