सचेत

शारीरिक बीमारी से पीड़ित, यह केरल की महिला एक नौकरी के लिए लड़ रही है.

तर्कसंगत

Image Credits: Indian Women Blog

April 16, 2019

SHARES

केरल के त्रिशूर जिले में जन्मीं के.वी. प्रीती, ‘इकथ्योसिस’ नामक एक शारीरिक बीमारी से पीड़ित हैं जो त्वचा में दर्द और दरारें पैदा करती है. अपनी इस अवस्था के कारण, प्रीति ने अपने पूरे जीवन में सभी प्रकार के अपमान, शर्मिंदगी और लोगों की उनके प्रति गलत अवधारणा को झेला है.

द बेटर इंडिया से बात करते हुये उन्होनें बताया कि उसकी त्वचा इतनी खराब है कि जब भी वह गर्मी के संपर्क में आती हैं तो त्वचा छिलने लगती है और उसकी आँखों से पानी आने लगता है. उस समय वह शरीर में दर्द के आलावा कुछ भी महसूस नहीं करती हैं.

 

“जिस तरह से मैं दिखती हूं, कोई भी मुझे नौकरी पर रखना नहीं चाहता”

एक छोटे से टाइल की छत वाले घर में रहने से प्रीति के लिये गर्मी के संपर्क में ना आना मुश्किल है. हालांकि, उन्होंने बार बार नहाने की आदत बना ली है ताकि गर्मियों में कुछ राहत मिल सके. लेकिन गर्मी के बढ़ते तापमान में, प्रीति एक असहनीय दर्द महसूस करती है क्योंकि गर्मी में उसकी त्वचा तेजी से छिलने लगती है. हालांकि, वह कई आयुर्वेदिक और एलोपैथी इलाजों से गुज़र चुकी हैं लेकिन उनके परिवार की आर्थिक स्थितियों के कारण वे एक स्थायी इलाज कराने में असमर्थ हैं.

30 साल की प्रीती एक बेहद गरीब परिवार से आती है. उनकी माँ वेलयुधन, जो कुली का काम करके घर चलाती थीं, का स्वर्गवास हो चुका है. यहां तक ​​कि प्रीती का इलाज भी उनकी मां के द्वारा ही किया जाता था लेकिन जैसे-जैसे माँ बूढ़ी और कमजोर होने लगी, प्रीति के भाई को परिवार की जिम्मेदारी उठानी पड़ी.

प्रीति बताती हैं “ऐसी स्थिति में, मैं अपने परिवार की मदद करने के लिए नौकरी भी करना चाहती हूं लेकिन मेरी शारीरिक बनावट के कारण मुझे कोई भी नौकरी पर रखना नहीं चाहता है.”

उसकी दयनीय स्थिति के बारे में जानकर, कुछ लोगों ने प्रीति की मदद करना शुरू कर किया. उनके पड़ोसी हरिहरन पंगरपिल्ली ने एक एक्सपैट समूह की मदद से उन्हें अच्छा इलाज दिलाने में मदद की. सुशांत नंबूर नामक एक सामाजिक कार्यकर्ता ने एक क्राउडफंडिंग अभियान की मदद से उनके इलाज के लिए 50 लाख रुपये से ज्यादा रुपये इक्क्ठे किये.

प्रीती बताती हैं कि उनके इलाज के लिये लोगों ने उनके प्रति जो दया और स्नेह दिखाया हैं उसके लिये वह खुद को खुशकिस्मत और कृतज्ञ महसूस करती है. लेकिन वह अभी भी अपने परिवार की सहायता के लिये नौकरी की तलाश कर रही हैं.

प्रीति ने SSLC तक की पढ़ाई पूरी कर ली है. वह बताती है कि वह औपचारिक और आम क्षेत्र में काम करने के लिए योग्य नहीं हो सकती हैं लेकिन घरेलू और सफाई का काम आसानी से कर सकती हैं और ऐसा करने में उन्हें दर्द भी कम होगा.

जीवन में इतनी कठिनाइयों का सामना करने के बावजूद, प्रीति एक मजबूत और दयालु व्यक्ति के रूप में उभरी हैं एक ऐसा इंसान जिसे उसके सभी पड़ोसी प्यार करते हैं. समाज में बहुत प्रगति के बाद भी, ज्यादातर लोग अभी भी दूसरों को उनकी शारीरिक बनावट के आधार पर आंकते हैं. लोग अभी भी यह महसूस करने में नाकाम हैं कि वास्तविक सुंदरता चेहरे से बहुत अधिक ऊपर होती है.

आप किसी भी नौकरी के अवसर के लिए प्रीति से 9526523172 पर संपर्क कर सकते हैं और उसे सम्मान के साथ जीवन जीने में उसकी मदद कर सकते हैं.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...