सचेत

जानिए कि कैसे एक जैनिटर के रूप में काम करने वाला उसी विश्वविद्यालय से नर्सिंग डिग्री के साथ ग्रेजुएट होता है.

तर्कसंगत

Image Credits: Tanks Good News

June 4, 2019

SHARES

अमेरिका में एक आदमी ने उसी चिकित्सा विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया जहां उसने जैनिटर के रूप में काम किया था. फ्रैंक बैज़, जिन्होंने यॉर्क यूनिवर्सिटी के लैंगोन टिश अस्पताल से ग्रेजुएट किया,वर्षों तक वे वहीं काम कर रहे थे.जैनिटर के काम में रोगी के कमरे, बाथरूम और हॉल वे की सफाई शामिल होते है.

15 साल की उम्र में अपनी माँ के साथ डोमिनिकन रिपब्लिक से न्यूयॉर्क चले जाने वाले बैज़ (29) को पहली नौकरी एक अस्पताल में मिली, जहाँ उन्होंने एक हाऊसकीपर के रूप में काम किया क्योंकि वह ऐसी नौकरी चाहते थे जिससे वेह अपने परिवार को सहारा दे सके.जब उन्होंने एक हाउसकीपर के रूप में अस्पताल में काम करना शुरू कर दिया, तो उन्हें चिकित्सा क्षेत्र और चिकित्सा प्रौद्योगिकी में रुची होने लगी, इसलिए उन्होंने रोगी ट्रांसपोर्टर के पद के लिए आवेदन किया, जहां उनका चयन हो गया.

उन्होंने कहा,”जब मैंने NYU में काम करना शुरू किया मैं उस समय मुश्किल से ही अंग्रेजी बोल पाता था, अब मैं इस पर विचार करता हूं तो मुझे बहुत गर्व महसूस होता है कि मैंने कितना कुछ हासिल किया.”

फिर उन्होंने हंटर कॉलेज में अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री समाप्त करने के लिए ट्रांसपोर्टर के रूप में अपनी नौकरी छोड़ दी. वे कॉलेज से ग्रेजुएट होने वाले अपने परिवार के पहले व्यक्ति हैं. वह कहते है कि वह हमेशा NYU अस्पताल में अपने लोगों में वापस जाना चाहते थे.

उन्होंने कहा, “नर्सों के साथ काम करने के दौरान, मुझे लगा कि मैं उनमें से एक बनना चाहता हूं,” उन्होंने कहा. “मैंने सीखा कि वे अपने रोगियों और अपने काम के प्रति कितने समर्पित हैं.

 

15 महीने में पूरी की डिग्री

NYU अस्पताल में नर्सों की मदद से बैज़ ने खुद को NYU रोरी मेयर्स कॉलेज ऑफ नर्सिंग में भर्ती कराया.चूंकि उन्होंने पहले चिकित्सा क्षेत्र में काम किया था, इसलिए उन्हें एक ऐसे कार्यक्रम में भर्ती कराया गया, जिसमें वह 15 महीने के भीतर नर्सिंग मे बैचलर्स डिग्री में ग्रैजुएट हो पाएँ.

रोरी मेयर्स कॉलेज ऑफ नर्सिंग में प्रोफेसर नताल्या पास्कलिंस्की ने कहा, “फ्रैंक ने कार्यक्रम को सिर्फ पारित ही नही किया बल्कि यह स्पष्ट किया की वह किस काबिल हैं,भले ही हमारा कार्यक्रम अत्यंत कठोर हो फिर भी वह अत्यंत ही उच्च अन्को से उत्तीर्ण हुए, और मेरे दिमाग में वह एक सितारा,मुझे लगता है कि वह एक बेहतरीन नर्स बनने जा रहें है.

पास्कलिंस्की बैज़ को वर्षों से जानती है क्योंकि वह उसी युनिट में  नर्स थी जहां बैज़ ने जैनिटर के रूप में काम किया था, वह मरीजों को दी जाने वाली उसकी देखभाल को याद करती है, जिस तरह से वह रोगियों के साथ बात करते थे और जैनिटर से ट्रांसपोर्टर तक जैसे उन्की पदोन्नति हुई.

बैज़ ने 3.6 GPA के साथ नर्सिंग में ग्रैजुएट किया और नर्स के रूप में काम करना शुरू किया.वह एक इनटेंसिव केयर युनिट(आई.सी.यू) में एक नर्स बनने की उम्मीद करते हैं.

“मैं कभी भी पूर्ण समय के लिये छात्र नहीं था, मैंने सिर्फ काम करते हुए अधिक पढाई की, निश्चित रूप से ऐसे समय भी थे जब मुझे खुद पर संदेह होने लगता था, लेकिन फिर मुझे लगा कि मैं अपने लिए कुछ बड़ा करना चाहता हूं, मैं अपने लिये कुछ बेहतर चाहता था,  मैं और आगे बढ़ना चाहता था मेरे जीवन में मेरा आगे बढ़ना जारी ही है, ”बैज़ ने कहा.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...