ख़बरें

जानिए कि नया मोटर व्हीकल एक्ट के तहत किस गलती के लिए कितना भरेंगे जुर्माना

तर्कसंगत

Image Credits: Amarujala/India News

September 6, 2019

SHARES

भारत में नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद लोग परेशान हैं. नए एक्ट में मामूली गलती के लिए बड़े जुर्माने का प्रावधान है. ट्रैफिक के नियम काफी सख्त हो गए हैं. नए नियमों के मुताबिक अब ड्राइविंग के दौरान मोबाइल से बात करना, ट्रैफिक जंप करना और गलत दिशा में ड्राइव करने को खतरनाक ड्राइविंग कैटेगिरी में रखा गया है और इस पर भारी जुर्माना देना पड़ेगा. एक सरसरी निगाह में देख लीजिये कि अलग अलग गलतियों  के लिए अब पहले से कितना ज़्यादा फाइन भरना पड़ेगा :

अपराध पुराना जुर्माना नया जुर्माना
सामान्य ₹100 ₹500
सड़क विनियमन उल्लंघन के नियम ₹100 ₹500
अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना ₹500 ₹2,000
बिना लाइसेंस के वाहनों का अनाधिकृत उपयोग ₹1,000 ₹5,000
बिना लाइसेंस के वाहन चलाना ₹500 ₹5,000
अयोग्यता के बावजूद ड्राइविंग ₹500 ₹10,000
ओवरसाइज़ गाड़ी N/A ₹5,000
ओवर स्पीडिंग ₹400 ₹1,000
खतरनाक ड्राइविंग ₹1,000
 ₹5,000 तक
शराब पी कर गाड़ी चलाना ₹2,000 ₹10,000
तेजी / रेसिंग ₹500 ₹5,000
बिना परमिट के वाहन  ₹5,000 तक
 ₹10,000 तक
एग्रीगेटर्स (लाइसेंस शर्तों का उल्लंघन) N/A
₹25,000 से ₹1 लाख
ओवर लोडिंग ₹2,000 और  ₹1,000हर अतिरिक्त टन पर जुर्माना
₹20,000 और  ₹2,000 हर अतिरिक्त टन पर जुर्माना
यात्रियों की ओवरलोडिंग N/A
₹1,000रूपये  हर अतिरिक्त यात्री पर जुर्माना
सीट बेल्ट ₹100 ₹1,000
दो पहिया वाहनों पर ओवरलोडिंग ₹100
₹2,000 और 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द
हेलमेट न पहनने पर ₹100
₹1,000 और 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द
आपातकालीन वाहनों के लिए रास्ता उपलब्ध नहीं कराना N/A ₹10,000
बीमा के बिना ड्राइविंग ₹1,000 ₹2,000
किशोरों द्वारा अपराध N/A अभिभावक / मालिक को दोषी माना जाएगा। 3 साल की कैद के साथ 25,000 जुर्माना। किशोर पर जेजे एक्ट के तहत मुकदमा चलाया जाएगा। वाहन का पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा।
दस्तावेजों को लगाने के लिए अधिकारियों की शक्ति N/A ड्राइविंग लाइसेंस का निलंबन
अधिकारीयों द्वारा ही नियम उल्लंघन करने पर  N/A  किसी भी नियम तोड़ने पर उस नियम के हिसाब से 2  गुना जुर्माना

 

इन नियमों का उद्देश्य लोगों में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने का भय भरना है क्योंकि अभी तक जुर्माने की राशि बहुत कम होती थी जिसकी वजह से लोग 100-50 रुपये थमाकर ट्रैफिक के नियमों को तोड़ना अपनी शान समझते थे. सड़क परिवहन मंत्रालय ने बताया है कि केवल हरियाणा में ही अभी तक नए कानून के तहत करीब साढ़े तीन सौ चालान काटे गए हैं. इनसे जुर्माने के तौर पर 52 लाख रुपये से अधिक की राशि इकट्ठी की गई है. अगर ओडिशा की बात करें तो वहां अभी तक चार हजार से भी ज्यादा चालान काटे गए हैं. इनसे 88 लाख रुपये से अधिक की राशि एकत्रित की गई. वहां 46 वाहन जब्त कर लिए गए हैं.

दरअसल मोटर व्हीकल संविधान की समवर्ती सूची में आता है लिहाजा संसद को इस मामले में राज्यों के अधिकार परिभाषित करने की शक्ति है. अभी कुछ राज्य इस बारे में अधिसूचना को अंतिम रूप दे रहे हैं और उसके बाद ट्रैफिक पुलिस को मौके पर ही जुर्माना दिया जा सकेगा. तब तक जुर्माने की रकम अदा करने के लिए अदालत जाना होगा.

 

 

 

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...