पर्यावरण

मेघालय विधानसभा में प्लास्टिक के बोतलों का उपयोग हुआ बंद

तर्कसंगत

Image Credits: North East Today/Imgrumweb

September 9, 2019

SHARES

मेघालय विधानसभा सचिवालय ने पहली बार शरद सत्र के पहले दिन 60 विधायकों की मेजों पर प्लास्टिक की पानी की बोतलों के बजाय पानी के जग रखने का फैसला किया. अच्छी बात यह थी कि अधिकांश विधायकों ने भी इस पहल का सहर्ष स्वागत किया और कांच के गिलास का उपयोग किया.

कमिश्नर और विधानसभा सचिवालय के सचिव एंड्रयू सिमंस ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्लास्टिक की पानी की बोतलों के इस्तेमाल को रोकने के अभियान में ये हमारी तरफ से एक छोटा कदम है.

साइमन ने कहा, “विधायकों को जो पानी मुहैया कराया जाता है, उसे एक्वा गार्ड में फिल्टर किया जाता है.”

इस बीच, मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा ने विधानसभा सचिवालय द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की है क्योंकि यह प्लास्टिक के उपयोग के खिलाफ अभियान पर राज्य सरकार की नीति के अनुरूप है.

नार्थ ईस्ट टुडे से बात करते हुए उन्होंने आगे बताया कि उनके कार्यालय में पिछले साल से प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग बंद है. “प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की यह प्रवृत्ति जारी रहेगी. कई संगठन हैं जो सरकार के साथ इस अभियान में जुड़ रहे हैं  – जिसमें निजी कंपनियां, स्कूल, कॉलेज और यहां तक ​​कि मीडिया हाउस भी हैं.

उन्होंने आगे कहा कि यह एक पर्यावरणीय मुद्दे से निपटने के लिए एक सकारात्मक कदम है जो व्यक्तिगत स्तर पर किया जा सकता है.

यह पूछे जाने पर कि प्लास्टिक के खिलाफ यह अभियान कई युवाओं को प्रभावित करेगा जो पैकेज पीने के पानी के रोज़गार से जुड़े हैं, उन्होंने कहा कि इससे निश्चित रूप से मौजूदा व्यवसायों पर प्रभाव तो पड़ेगा.

संगमा ने कहा कि वह इस व्यवसाय के बारे में चिंतित हैं, संगमा ने कहा कि “जो युवा इस उद्यम में हैं, उन्हें रीसायकल ग्लास बोतल का उपयोग करने की आवश्यकता होगी, साथ ही वो अन्य उपलब्ध तकनीकों को भी देख सकते हैं.”

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...