पर्यावरण

इनकी कंपनी आपके शादी, पार्टी, फंक्शन के कचरे न केवल साफ़ करेगी बल्कि रीसायकल भी सुनिश्चित करेगी

तर्कसंगत

September 12, 2019

SHARES

वो पर्यावरण को बचाना चाहती हैं इसलिए उन्होने तय किया कि वो कूड़ा उठाने का काम करेंगी। दिल्ली विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई करने वाली तमन्ना शर्मा आज बड़े-बड़े आयोजन में जाकर वहां पर कूड़ा उठाने का काम करती हैं। जिसके बाद उस कूड़े को सही जगह पर ठिकाने लगाती हैं। तमन्ना का कहना है कि कूड़ा उठाना किसी धर्म या जाति का काम नहीं बल्कि समाज के सभी लोगों की जिम्मेदारी है कि वो अपने आसपास साफ सफाई का ध्यान रखें। तमन्ना ने इस काम को बड़े पैमाने पर करने के लिए ‘अर्थलिंग फर्स्ट’  नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया है। जो हजारों टन कूड़े को रिसाइकल कर दोबारा इस्तेमाल लायक बना चुका है।

दिल्ली में रहने वाली 27 साल की तमन्ना शर्मा एक्टिविस्ट भी हैं। इस काम को शुरू करने से पहले वो जब भी अपने आसपास के बच्चों से मिलती थीं तो उनको साफ सफाई को लेकर जागरूक करने का काम करती थीं। बचपन से ही उनको साफ सफाई की जरूरत के बारे में बताया जाता था। यही वजह थी कि उनका ज्यादा रूझान पर्यावरण संरक्षण की ओर था और वो इसको लेकर काफी गंभीर थीं। इस बीच उनको एक सरकारी आयोजन में हिस्सा लेने का मौका मिला। जहां उन्होने देखा कि कार्यक्रम खत्म होने के बाद चारों और कचरा फैला हुआ था। यहीं से उनको ‘अर्थलिंग फर्स्ट’  नाम से स्टार्टअप शुरू करने का आइडिया आया। 2016 में इसकी स्थापना के बाद उन्होने इसे एक सफल कारोबार के तौर पर चलाने का फैसला लिया।

 

Image may contain: 3 people, people standing and outdoor

 

तमन्ना मानती हैं कि हर आयोजक चाहता है कि वो कम खर्च में सफल कार्यक्रम का आयोजन कर सके। इसलिए ज्यादातर आयोजक इस बात पर ध्यान नहीं देते कि कार्यक्रम के दौरान पैदा होने वाले कूड़े को ठिकाने लगाना भी उनकी जिम्मेदारी है। इसलिए तमन्ना ने बेंगलुरु में रहने वाले और उनके बचपन के दोस्त एमए जुलियन से मदद ली जो खुद कारोबारी हैं। तमन्ना ने जुलियन की मदद से कॉरपोरेट इंवेट के लिए काम करना शुरू किया क्योंकि उनके आयोजन में काफी ज्यादा वेस्ट इकट्ठा होता है।

‘अर्थलिंग फर्स्ट’  को सबसे पहले ‘मारूति सुजुकी डेवल्स सर्किट’  ने कूड़ा उठाने और उसको रिसाइकल करने का मौका दिया। खास बात ये है कि ‘मारूति सुजुकी डेवल्स सर्किट’ हर महीने देश के अलग शहरों में अपने इवेंट आयोजित करती है। ये कंपनी काफी समय से एक ऐसी दूसरी कंपनी ढूंढ रही थी जो उनके वेस्ट को ठिकाने लगा सके। शुरूआत में ‘मारूति सुजुकी डेवल्स सर्किट’ ने तमन्ना को काफी छोटे से स्तर के इवेंट में कूड़ा उठाने का मौका दिया। इसके बाद कंपनी उनके काम से इतनी प्रभावित हुई कि उन्होने देश भर में होने वाले अपने सभी कार्यक्रमों के वेस्ट मैनेजमेंट की जिम्मेदारी उन पर डाल दी।

 

Image may contain: 2 people, people smiling, people sitting

 

इस तरह ‘अर्थलिंग फर्स्ट’ कंपनी अपने हर इवेंट में 2 से 3 किलो टन तक के वेस्ट को अर्थव्यवस्था में रिसाइकिल होने के लिए भेज देती हैं। किसी भी इवेंट का काम हाथ में लेने से पहले वो जानकारी जुटाती हैं कि कार्यक्रम में किस तरह का समान इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए कई बार वो तुरंत ही वेस्ट को कैसे रिसाइकिल किया जा सकता है, इसकी भी जानकारी देती हैं। इससे एक ओर वो लोगों को कूड़े का समाधान दे रही हैं, तो दूसरी ओर वो उनको ये भी बता रही हैं कि किस सामान के इस्तेमाल से कम कूड़ा पैदा किया जा सकता है। खास बात ये है कि तमन्ना अपने कर्मचारियों को सफाई के लिए कभी भी झाड़ू नहीं देती। उनका मानना है कि झाडू से कचरा आपस में मिल जाता है जिसके बाद उसे अलग करना काफी चुनौतीपूर्ण होता है। इसलिए हर कर्मचारी को खास ड्रैस और दस्ताने देने के साथ दूसरे जरूरी सामान दिए जाते हैं। वो कभी भी सफाई को किसी खास जाति से नहीं जोड़ती हैं। वो मानना है कि देश तभी साफ होगा जब हर इंसान अपने स्तर पर अपने आस पास सफाई रखेगा। उनकी कंपनी में उनके अलावा 5 दूसरे लोग भी हैं जो अलग-अलग शहरों से इस काम को देख रहे हैं।

 

Image may contain: one or more people, people standing and outdoor

 

तर्कसंगत उनकी इस पहल की तारीफ करता है और उम्मीद करता है कि लोग अपने घर के इवेंट्स, शादी पार्टी कार्यक्रमों में उनको बुला कर ये इत्मीनान रख सकते हैं कि इनके द्वारा उठाया गया वेस्ट किसी नदी नाले में न फेंक कर बल्कि अच्छी तरह से रीसायकल होगा। इनसे संपर्क करने के लिए आप अर्थलिंग फर्स्ट’ के फेसबुक पेज पर संपर्क कर सकते हैं।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...