सप्रेक

एक रुपये में इडली खिलाने वाली अम्मा अब गैस पर बनाएंगी इडली, सरकार ने की मदद

तर्कसंगत

Image Credits: News18/Indian Express

September 16, 2019

SHARES

तमिलनाडु के कोयम्बटूर ज़िले की रहने वाली 80 साल की एक बज़ुर्ग महिला लकड़ी के चूल्हे में इडली बनाती हैं. इस बुज़ूर्ग महिला की ख़ास बात ये है कि वो सुबह काम पर जाने वाले मजदूरों को मात्र 1 रुपये में इडली बेचती हैं. काफ़ी समय से सोशल मीडिया पर 80 साल की कमलाथल अम्मा का एक वीडियो ख़ूब वायरल हो रहा था. वीडियो में ये बज़ुर्ग महिला लकड़ी से जलने वाले स्टोव का उपयोग कर इडली बनाती नज़र आ रही हैं. महंगाई के इस दौर में वो महज 1 रुपए में लोगों को इडली बेच रही हैं.

 

Image Courtesy : ANI

 

गौरतलब है कि बीते 10 सिंतबर को आंनद महिंद्रा ने एक वीडियो ट्वीट किया, यह ​महिला बीते 30-35 साल से बिना मुनाफे के मात्र एक रुपये में इडली बेच रही है.

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आनंद महिंद्रा के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कमलाथल अम्मा की भावना को सलाम! सरकार ने उन्हें गैस कनेक्शन दे दिया. ख़ुशी हुई कि लोकल ओएमसी ऑफ़िसर्स ने एलपीजी कनेक्शन देने में मदद की.

 

आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट में​ लिखा, ‘यह उन विनम्र कहानियों में से एक है जो आपको आश्चर्यचकित करती है, लेकिन आप भी कमलाथल जैसा कुछ प्रभावशाली काम करते हैं तो यकीनन वो दुनिया को हैरान करेगा. मैनें ध्यान दिया कि वो अभी भी लकड़ी के चूल्हे का इस्तेमाल करती हैं. अगर उन्हें कोई जानता है तो मुझे इसके बारे में जानकारी दें.

कमलाथल अम्मा हर रोज़ सुबह-सुबह इडली बेचने के लिए निकल जाती हैं, ताकि कोई भी लेबर खाली पेट अपने काम की शुरुआत न कर करे. 30 साल पहले जब उन्होंने अपना कारोबार शुरू किया था तब वो मात्र 50 पैसे में इडली के साथ-साथ सांभर व चटनी बेचा करती थीं.

 

Image Courtesy: Asianet News

 

उन्हें अब लकड़ी का चूल्हा नहीं फूंकना होगा. उद्योगपति आनंद महिंद्रा और धर्मेंद्र प्रधान के हस्तक्षेप की वजह से उन्हें मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन जो मिल गया है. यहां छोटे ढाबों में आमतौर पर जहां इडली 10 रुपये और बड़े रेस्तरां में 50 रुपये तक में मिलती है, लेकिन कमलातल हैं कि अपने ठीहे पर पिछले 30 साल से लोगों की भूख शांत करने के लिए सस्ती इडली का यह अनोखा व्यापार कर रही हैं. इस उम्र में भी वह सांभर-नारियल की चटनी के साथ रोजाना करीब 600 इडली एक रुपये के हिसाब से ही बेच रही हैं.

उनकी दुकान पर छात्रों, सरकारी और निजी कंपनियों कर्मचारियों, ड्राइवरों एवं दिहाड़ी मजदुरों की भीड़ रहती हैं. इन्हीं के बीच में किसी ने उनकी इडली की दुकान के बारे में सोशल मीडिया पर डाल दिया और बात वायरल होते हुए महिंद्रा एंड महिंद्रा समूह के प्रमुख आनंद महिंद्रा तक पहुंच गयी.

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...