खेल

भारतीय एथलीटों ने कनाडा में देश का गौरव बढ़ाया, 16 वर्षीय ने पॉवरलिफ्टिंग में चार स्वर्ण जीते

तर्कसंगत

September 23, 2019

SHARES

कनाडा में, 28 भारतीय एक अंतरराष्ट्रीय खेल समारोह में देश का नाम रोशन रहे हैं। भारतीय एथलीटों ने इस साल राष्ट्रमंडल पावरलिफ्टिंग और बेंच प्रेस चैम्पियनशिप में कई पदक हासिल किए हैं, जो 15 सितंबर से कनाडा में शुरू हुआ था।

सभी जीत के बीच, सबसे उल्लेखनीय है 16 वर्षीय लड़की ऋषिता जैन की उपलब्धि। दिल्ली के करोल बाग इलाके की रहने वाली ऋषिता प्रतियोगिता में भाग लेने वाली सबसे कम उम्र की भारतीय थीं। उन्होनें अपनी पहली अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सब जूनियर स्तर (52 किग्रा) के मुख्य समारोह में चार स्वर्ण पदक जीते थे।

तर्कसंगत से बात करते हुए, ऋषिता की मां श्वेता जैन ने कहा, “हमें बहुत गर्व और खुशी है कि हमारी बेटी ने एक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम में स्वर्ण पदक जीता है और भारत में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है।”

कक्षा ग्यारह की छात्रा, ऋषिता ने दो साल पहले ही जिम ज्वाइन किया था। श्वेता ने कहा, “जिम जाने के कुछ महीने बाद, ट्रेनर ने हमें बताया कि उसे वजन उठाना शुरू करना चाहिए और प्रतियोगिता में भाग लेना चाहिए।” इस प्रकार पावरलिफ्टिंग की उसकी यात्रा शुरू हुई। उसने क्षेत्रीय स्तर की प्रतियोगिता से शुरुआत की, फिर राज्य, राष्ट्रीय और अब देश का प्रतिनिधित्व कर रही है।

यह दुखद है कि एक क्रिकेट के प्रभुत्व वाले राष्ट्र में, इस तरह के महत्व और गर्व की खबरें लोगों तक नहीं पहुँच पाती हैं। “एक भी भारतीय मीडिया चैनल ने इस कार्यक्रम को कवर नहीं किया है। पुरुष प्रधान खेल में पदक लाना मुश्किल है। विजेताओं को उनका सही सम्मान दिया जाना चाहिए जो उन्हें आगे और अच्छा करने के लिए प्रेरित करता है” श्वेता ने कहा।

ऋषिता 24 सितंबर को भारत लौट आएंगी।

प्रतियोगिता में चेन्नई की पावरलिफ्टर आरती अरुण ने 72 किलोग्राम वर्ग में पांच स्वर्ण पदक जीते। वह वर्तमान एशियाई पावरलिफ्टिंग गोल्ड मेडलिस्ट और नेशनल चैंपियन भी हैं।

असम से, डॉ. अनिंदिता प्रियदर्शनी दास, हाल ही में संपन्न हुई प्रतियोगिता में चार स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहीं।

कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में उपलब्धि को वर्ल्ड पावरलिफ्टिंग चैम्पियनशिप का प्रवेश द्वार माना जाता है।

प्रत्येक एथलेटिक जीत महत्वपूर्ण होती है और तर्कसंगत  ऐसी हर जीतने वाली कहानी को कवर करना जारी रखेगा जो पारंपरिक मीडिया में जगह नहीं पाती है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...