ख़बरें

पंचायत भवन के सामने शौच करने पर दो दलित बच्चों को जान से हाथ गंवाना पड़ा

तर्कसंगत

Image Credits: Times Now

September 26, 2019

SHARES

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव में बुधवार की सुबह पंचायत भवन के सामने शौच करने पर दो व्यक्तियों ने दो दलित बच्चों को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला. सिरसोद पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक आर एस धाकड़ ने बताया कि पुलिस ने मामले में दो आरोपियों हाकिम यादव और उसके भाई रामेश्वर यादव को गिरफ्तार कर लिया है. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि घटना में दो ही व्यक्ति कथित तौर पर शामिल थे.

मारे गए बच्चों की उम्र महज 11 और 12 साल है. बच्चों के सिर में गंभीर चोटें आईं, जिसके बाद उनकी मौत हो गई. दोनों बच्चे दलित समुदाय के थे.

इस मामले पर बसपा की मुखिया ने भी ट्वीट कर केंद्र की बीजेपी और राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है. मायावती ने हत्यारों के लिए फांसी की सजा की मांग की है.

 

 

पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक जांच में पता चला है कि घटना में दो ही व्यक्ति कथित तौर पर शामिल थे. बुरी तरह पीटे जाने से दोनों बच्चों (रोशनी वाल्मीकि, 12 साल और अविनाश वाल्मीकि, 10 साल) को गंभीर चोटें आईं. इसके बाद बच्चों को जिला अस्पताल ले जाने के बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया.

मृतक अविनाश के पिता मनोज वाल्मीकि ने कहा कि उनका गांव यादव बहुल है और गांव में उनके साथ जातिगत आधार पर भेदभाव किया जाता है. उन्होंने आरोप लगाया कि गांव के सभी लोगों द्वारा पानी लेने के बाद ही उन्हें हैंडपंप से पानी निकालने की अनुमति है. उन्होंने कहा, ‘‘दो साल पहले मेरी आरोपियों से बहस हुई थी और उन्होंने मुझे जातिगत गालियां देते हुए मारने की धमकी दी थी.’’

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...