ख़बरें

आखिर क्यों केरल पुलिस की इस महिला पुलिस अधिकारी की चर्चा हर तरफ हो रही है?

तर्कसंगत

Image Credits: Facebook/Aparna Lavakumar /Deccan Herald

September 26, 2019

SHARES

अपर्णा लवकुमार थ्रिसूर ज़िले के इरिनजलाकुदा में सीनियर सिविल पुलिस अधिकारी हैं। सोशल मीडिया पर इनकी बहुतई तारीफ हो रही है. लेकिन क्यों? क्योंकि इन्होंने कैंसर से जूझ रहे लोगों के लिए अपना सिर मुंडवा लिया है और बाल दान दे दिए।

उन्हें इसके लिए दुनियाभर से तारीफें मिल रही हैं। हालांकि वे ऐसी छोटी चीजों को तारीफ के काबिल नहीं मानतीं।  उन्होंने कहा कि मैंने जो किया वो कोई बड़ी बात नहीं है, मेरे बाल एक दो साल में वापस आ जाएंगे। मेरे लिए वो लोग वास्तव में हीरो हैं जो जरूरतमंदों को अपना अंग दान करते हैं। लुक में क्या रखा है, आपका काम उससे ज्यादा मायने रखता है।

बता दें कि ये कोई पहली बार नहीं है जब अपर्णा ने निस्वार्थ होकर किसी के लिए कुछ किया हो। 10 साल पहले भी वे अपने ऐसे काम के लिए चर्चा में आई थीं। तब उन्होंने अस्पताल से अपने बच्चे का शव ले जाने के लिए पैसों का इंतजाम नहीं कर पा रहे एक परिवार को अपने तीन सोने के कंगन दान कर दिए थे। जब अस्पताल के कुछ कर्मचारियों ने अपर्णा के बारे में न्यूज चैनलों को बताना शुरु किया तो वे चर्चाओं में आईं।

अपर्णा कहती हैं कि वे हमेशा अपने थोड़े थोड़े बाल दान करती रहती हैं। लेकिन इस बार उन्होंने तब अपना पूरा सिर मुंडवा लिया जब उनके सामने एक कैंसर का मरीज लड़का बिना बालों के दिखाई पड़ा। उन्होंने कहा कि मैं उस बच्चे के दर्द को महसूस कर पा रही थी। अपर्णा के साथ काम करने वाले अधिकारी उन्हें अपने रोल मॉडल के रूप में मानते हैं।

इतना ही नहीं, उसे उसके मानवीय कृत्यों के लिए उसके परिवार का पूरा समर्थन मिल रहा था, उसकी दो बेटियों ने भी नियमित रूप से बाल दान करना शुरू कर दिया है।

कुछ साल पहले अपर्णा का मानवीय रूप उस समय भी देखने को मिला जब उन्होंने अपनी जेब से एक महिला के अस्पताल के बिल का भुगतान किया था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। महिला के रिश्तेदार, जो आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि से थे, लगभग रु50,000 के बिल का भुगतान करने में असमर्थ थे। जब तक राशि का भुगतान नहीं किया गया तब तक अस्पताल के अधिकारी शरीर नहीं दे रहे थे। इस पर अपर्णा ने तुरंत बिल का भुगतान कर दिया और शव को परिजनों को सौंप दिया।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...