ख़बरें

उत्तर प्रदेश में राम की मूर्ति सरदार पटेल की मूर्ति से भी बड़ी होगी, 447 करोड़ का बजट पास

तर्कसंगत

Image Credits: Times Of India/Ndtv

November 5, 2019

SHARES

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अयोध्या में भगवान राम की विशालकाय प्रतिमा स्थापित करने के लिए 447 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. यह राशि 251 मीटर ऊंची प्रतिमा के निर्माण के लिए तकनीकी अध्ययन करने के लिए इस वर्ष की शुरुआत में स्वीकृत 200 करोड़ रुपये के अतिरिक्त है।

एक तरफ पैसों की कमी का हवाला देते हुए 250000 होमगार्ड की नौकरी छीन ली गयी. हालाँकि काफी विरोध होने के बाद उस निर्णय को वापस लिया गया मगर इसके साथ साथ पिछले महीने एम्बुलेंस ड्राइवरों ने तीन महीने से अधिक समय तक अवैतनिक वेतन का विरोध किया था, साथ ही साथ कुछ पहले निष्काषित ड्राइवरों को बहाल करने का विरोध किया था, और आठ घंटे की ड्यूटी की मांग की थी।

ऐसी स्थिति में सरकार अयोध्या जैसी जगहों पर लोगों के लिए मुलभुत सुविधाएं उपलब्ध कराती तो वो ज़्यादा बेहतर होता। बहरहाल मंत्रिमंडल की बैठक में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 28 विकास क्षेत्रों के निर्माण के लिए और अधिक सर्वेक्षण और अनुसंधान का फैसला किया है। उनकी सरकार पहले ही सोनभद्र में दो विकास क्षेत्रों को मंजूरी दे चुकी है।

यूपी सरकार में मंत्री और राज्य सरकार के आधिकारिक प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि कैबिनेट ने अयोध्या के मीरपुर गांव में 61 हेक्टेयर भूमि के अधिग्रहण के प्रस्ताव को 447.46 करोड़ रुपये में मंजूरी दे दी है, जहां भगवान राम की प्रतिमा, एक डिजिटल संग्रहालय, एक व्याख्यान केंद्र, एक पुस्तकालय, एक फूड प्लाजा, पार्किंग और पर्यटकों की जरूरत से जुड़ी अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. शर्मा ने कहा, ‘यह परियोजना गुजरात की सरदार पटेल परियोजना की तरह ही है.’ सरदार पटेल की प्रतिमा की ऊंचाई 183 फीट है जबकि भगवान राम की प्रस्तावित मूर्ति की ऊंचाई 251 मीटर होगी।

शर्मा ने कहा कि मूर्ति के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के लिए इस वर्ष की शुरुआत में राज्य सरकार ने 200 करोड़ रुपये की मंजूरी दी थी. इसमें से 100 करोड़ रुपये का आवंटन किया जा चुका है. अब राम मूर्ति बनाने पर काम शुरू किया जा सकता है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...