सप्रेक

नमिता बांका की इस ख़ास पहल को नीति आयोग ने ‘वीमेन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड्स’ से नवाज़ा

तर्कसंगत

November 14, 2019

SHARES

आये दिन रेलगाड़ी के सफर में हम और आप कई सारी गंदगी देखते हैं, खास कर के बाथरूम की. मगर इसे देखकर सुधारने के बारे में कितने लोग संजीदा होते हैं? लेकिनी इसी गंदगी से रूबरू होने के बाद नमिता बांका ने इस चुनौती को स्वीकारा और ये ठान लिया कि वह इसका उपाय निकालेंगी. ऐसी ही प्रतिभाशाली नारियों को नीति आयोग द्वारा सम्मान दिलवाने के लिए यहाँ रजिस्टर करें. नामांकन करने की अंतिम तारीख 17 नवंबर 2019 है.

नमिता बांका इस बात से ज़रा भी नहीं डरी या हिचकिचाई कि उनके पहले भी ऐसी सारी कोशिशें नाकाम हो चुकी है. जैसे कहते हैं न की असफलता आपकी सबसे बड़ी सीख है नमिता ने अपने प्रिंटर कार्ट्रिज रीसायकल करने के असफल अनुभव से बहुत कुछ सीखा खास कर की वेस्ट मैनेजमेंट के बारे में और उस सीख को उन्होनें बायो टॉयलेट के निर्माण में इस्तेमाल किया.

साल 2009 से उन्होनें बायो टॉयलेट बनाने के व्यवसाय में कदम रखा. इस काम में उन्होनें कुछ कंपनियों की डीलरशिप ली और देखते देखते ‘बांका बायो लूज़’ नाम की कंपनी बन गयी.  

इसके बाद बांका ने DRDO के साथ भी काम किया और उनके बायो डाइजेस्टर तकनीक के ज़रिये नैमता को गंदगी को साफ़ करने या ट्रांसपोर्ट करने की ज़रूरत से छुटकारा मिला क्यूंकि बायो डाइजेस्टर में मौजूद बैक्टीरिया उस गंदगी को बायोगैस में बदल देती है. 



DRDO द्वारा लाइसेंस प्राप्त करने के बाद से इन्होनें  8000 बायोडाइजेस्टर टैंक वाले शौचालय 19 राज्यों में बनाये हैं. नमिता की इस पहल ने लोगों को रोज़गार के भी अवसर दिए हैं. इन्होनें अबतक 700 ग्रामीण पृष्टभूमि के लोगों को रोज़गार दिए हैं. नमिता की मानें तो उनका लक्ष्य अगले साल तक 300 और लोगों को रोज़गार देने का है.

उनके इस मेहनत और सोच ने देश की कई नामी गिरामी कपंनियों की मदद की है सबसे पहले तो इस लिस्ट में भारतीय रेल का नाम आता है जो इनसे बायो डाइजेस्टर वाले शौचालय लेती है, साथ में आंध्र प्रदेश सरकार, लारसन टर्बो, उनमें से एक है. इतना ही नहीं भविष्य में इस तकनीक की ज़रूरत को समझते हुए कई सारे स्कूल, रसॉर्ट्स आज नमिता के पहल का हिस्सा बन बेहतर भारत के निर्माण में मदद कर रहे हैं.

नमिता को उनकी इस पहल के लिए बीते साल भारत सरकार की निति आयोग ने वीमेन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड से  पुरस्कृत किया है. अगर आप भी ऐसी किसी महिला को जानते हैं या आप खुद किसी न किसी तरह से एक बेहतर भारत के निर्माण में सहयोगी हैं तो इस लिंक पर रजिस्टर करें.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...