ख़बरें

वीडियो : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को अपना ही किया वादा याद दिलाने पर आया गुस्सा

तर्कसंगत

Image Credits: Jagran

November 19, 2019

SHARES

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और बक्सर से सांसद अश्विनी कुमार चौबे ने एक बार फिर अपना आपा खो दिया। मामला बक्सर के सदर अस्पताल में वादे के बावजूद अल्ट्रासाउंड मशीन नहीं लगाने से जुड़ा हुआ है। न्यूज एजेंसी ANI के वीडियो में देखा जा सकता है कि बक्सर के सर्किट हाउस के बाहर विरोध की तख्तियां लिए पहुंचे लोगों और दिव्यांगों पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे और उनके समर्थक भड़क रहे हैं।  इतना ही नहीं शिकायतकर्ता के बात कहे जाने के बाद मंत्री जी के आदमी उनके नाम के ज़िंदाबाद के नारे लगाने लगे।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि बक्सर जिला के सदर अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन और डिजिटल एक्स-रे मशीन कई महीनों से खराब है।  मंत्री ने उनलोगों को आश्वासन दिया था कि इसे जल्द ठीक करवा दिया जाएगा, परंतु अब तक ठीक नहीं हो सका है।  अश्विनी चौबे ने दो महीने पहले बक्सर सदर अस्पताल में डिजिटल एक्सरे (Digital X-ray) और अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) की सुविधाएं बहाल करने का वादा किया था। इसके लिए सदर अस्‍पताल में मशीन आ चुकी है, लेकिन उसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है।

 

बता दें कि पिछले दिनों बक्सर यात्रा के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने आश्वासन दिया था कि सदर अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन जल्द चालू हो जाएगा।  उसी मामले में जानकारी के लिए युवा नेता व दिव्यांग संघ के सदस्य सर्किट हाउस पहुंचे थे।

इससे पहले सितंबर महीने में ‘जनता दरबार’ में एक पुलिस के एसएसआई से उन्होंने कहा था कि तुम्हारी वर्दी उतरवा लेंगे।  इसके बाद इस घटना का वीडियो भी वायरल होकर चर्चा का विषय बना था। डुमराव में अश्विनी चौबे ने भरे जनता दरबार में डुमराव थाने के एएसआई को वर्दी उतरवा लेने की धमकी दे डाली थी। उल्लेखनीय है पिछले महीने बिहार के पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में डेंगू के मरीजों से मिलने पहुंचे मंत्री चौबे पर स्याही फेंकी गई थी।

हालांकि अपना अपमान होते देख सामाजिक कार्यकर्ता और युवा नेता रामजी सिंह के साथ आए दिव्यांगजनों ने इसका विरोध किया। उन्होंने इसे सांसद के द्वारा किया गया दुर्व्यवहार बताते हुए खुद को अपमानित करने का आरोप लगाया।

बक्सर के सर्किट हाउस में हुए इस हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया हालांकि काफी मशक्कत के बाद मामले को शांत किया गया। वहीं अपमान सहने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं ने अश्विनी कुमार चौबे के खिलाफ मोर्चा खोलने का ऐलान कर दिया है। प्रदर्शनकारी अब बक्सर के सभी कार्यक्रमों में सांसद का विरोध करने का मन बना रहे हैं।  प्रदर्शन में शमिल लोगों का कहना है कि जब तक अस्पताल की समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता, तब तक उनका विरोध होता रहेगा। इस मामले में मंत्री का पक्ष जानने की कोशिश की गई, परंतु मंत्री से संपर्क नहीं हो सका।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...