ख़बरें

अच्छी सोच: ओडिशा में पांच ट्रांसजेंडर को मिली सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी

तर्कसंगत

November 26, 2019

SHARES

सामाजिक एकजुटता और इंसानियत की इससे अच्छी मिसाल जल्दी नहीं मिलेगी। ओडिशा में मलकानगिरी जिला मुख्यालय अस्पताल (डीएचएच) में अधिकारियों ने पांच ट्रांसजेंडर व्यक्तियों को सुरक्षा गार्ड के रूप में नियुक्त किया है।

दुर्गा, सोनाली, तुषार, कैलाश और हियाल को मलकानगिरी जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त किया गया है ताकि इन ट्रांसजेंडरों को स्वतंत्र जीवन जीने में सक्षम बनाया जा सके। पांचों अस्पताल के महिला, स्त्री रोग और बाल चिकित्सा वार्डों में सुरक्षा गार्ड के रूप में काम करेंगे और बीमा और अन्य सुविधाओं के साथ 6000 से 7000 का मासिक पग़ार भी प्राप्त करेंगे।

इन ट्रांसजेंडर्स को ‘निर्मल योजना’ के तहत नियुक्त किया गया है और इन्हें नौकरी देने से पहले मलकानगिरी जिला पुलिस द्वारा प्रशिक्षित किया गया था।

“15 दिनों के प्रशिक्षण से गुजरने के बाद, हम में से पांच लोग यहां शामिल हुए और हम इसे लेकर बेहद खुश हैं। हम हर दिन 8-घंटे अस्पताल में रहते हैं, जिसके दौरान हम रोगियों की देखभाल करते हैं, ”कैलाश डोरा, ने जो नए नियुक्त सुरक्षा गार्डों में से एक हैं ने ओडिशा टीवी को बताया।

ओडिशा सरकार ने सभी सरकारी अस्पतालों में उन्नत स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए 2018 में निर्मल योजना शुरू की। यह योजना स्वच्छता और सुरक्षा सेवाओं जैसी बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने और सभी के लिए सस्ती स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान करने पर केंद्रित है।

ओडिशा सरकार ने पिछले महीने कई स्वास्थ्य सेवाओं की घोषणा की थी। 2 अक्टूबर को शुरू की गई ‘मो सरकार’ पहल के तहत, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मलकानगिरी जिला अस्पतालों में मरीजों के परिचारकों के लिए डॉक्टर आवास और पारगमन होम और रेस्ट शेड के निर्माण की घोषणा भी की थी।

तर्कसंगत ये उम्मीद करता है कि इन छोटी छोटी प्रेरणादयक कोशिशों से हम सभी सीख ले कर इन ट्रांसजेंडर को समाज में ज्यादा से ज्यादा सम्मिलित कर एक मजबूत और प्रगतिशील भारत का निर्माण करें।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...