सचेत

सीबीएसई ने बदले 2020 के लिए दसवीं और बारहवीं के एग्जाम पैटर्न

तर्कसंगत

November 28, 2019

SHARES

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के छात्र जो 2020 में बोर्ड परीक्षाये देंगे उनके, परीक्षा पैटर्न में कुछ बड़े बदलाव किये गए है। बोर्ड हर विषय में आंतरिक मूल्यांकन शुरू करेगा जो बोर्ड परीक्षा के लिए प्रशन  पत्र के प्रारूप को बदलने में मदद करेगा। नए नियमों के अनुसार, सीबीएसई ने स्कूलों में छात्रों के आंतरिक मूल्यांकन पर अधिक भार दिया है, जिसमें गणित, भाषा, राजनीति विज्ञान जैसे विषय शामिल हैं। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट – cbseacademy.nic.in में 2020 के बोर्ड परीक्षा के लिए मॉडल  पेपर और अंकन योजना भी जारी की है।

 

पैटर्न में बदलाव क्यों?

इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित एक शिक्षा शिखर सम्मेलन में सीबीएसई सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा कि “देश के भविष्य को ध्यान में रखते हुए, यह समय की आवश्यकता है”। उन्होंने  कहा, “इस साल, जबकि 10 वीं कक्षा के छात्रों को 20% ऑब्जेक्टिव सवाल हल करने होंगे, 10% प्रश्न रचनात्मक विचारों पर आधारित होंगे। 2023 तक, 10 वीं और 12 वीं के प्रश्न पत्र रचनात्मकता, आलोचनात्मक पर आधारित होंगे।” 

त्रिपाठी ने यह भी कहा, ‘भारत में व्यावसायिक विषयों को कई छात्र नहीं मिलते हैं। इसका कारण रोजगार की कमी, बाजार में स्थिरता की कमी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की कमी है। सीबीएसई के सचिव के अनुसार, शिक्षा प्रणाली में बुनियादी ढांचे, शिक्षकों, अभिभावकों और छात्रों के बीच के अंतरसंबंध को बढ़ावा देने की बहुत आवश्यकता है। नई शिक्षा नीति का उद्देश्य व्यावसायिक विषयों और मुख्य विषयों के बीच अंतर को कम करना है।

 

क्या क्या बदलाव किये गए हैं?

  1. CBSE की 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 25% मल्टीप्ल ऑप्शन के सवाल होंगे। 2019 तक, 100 में से 20 अंक इंटरनल अस्सेस्मेंट के होते थे। बाकी 80 में से, अब व्यक्ति को केवल 60 अंकों के सब्जेक्टिव सवालों का उत्तर देना होगा – इससे छात्रों को परीक्षा में अधिक अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।
  2. सब्जेक्टिव तरह के सवालों के लिए, एक सवाल में इंटरनल ऑप्शंस की संख्या में 33 प्रतिशत की वृद्धि होगी। इससे छात्रों को किसी एक प्रशन का उत्तर देने के लिए अधिक विकल्प मिलेंगे।
  3. इससे पहले गणित, राजनीति विज्ञान जैसे 12 वीं कक्षा के विषयों में इंटरनल अस्सेस्मेंट शामिल नहीं था। हालांकि,बदले नियमो के बाद, 10 अंक इंटरनल अस्सेस्मेंट  से और 10 और अंक स्कूल की परीक्षा से लिए जाएंगे।
  4. अंग्रेजी विषय में, इंटरनल अस्सेस्मेंट के लिए 20 अंक बोलने और सुनने (एएसएल) के लिए मूल्यांकन से लिया जाएगा, जहां छात्रों को उनकी अंग्रेजी भाषा सुनने और बोलने के सक्षमता के लिए परीक्षण किया जाता है, लेकिन यह एक्सटर्नल टीचर द्वारा किया जाएगा।
  5. 10 वीं कक्षा के बोर्ड के लिए, 20 अंकों के इंटरनल अस्सेस्मेंट को 5 अंकों के चार भागों में विभाजित किया गया है, पीरिऑडिक ट्रस्ट, मल्टीप्ल अस्सेस्मेंट, पोर्टफोलियो और सब्जेक्ट एनरिच्मेंट एक्टिविट्स।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...