ख़बरें

इस बार के NEET एग्जाम में कैंडिडेट्स को मिलेगी ये रियायत

तर्कसंगत

Image Credits: First Post/Economic Times

December 3, 2019

SHARES

2020 से UG (NEET-UG) में छात्राओं को ‘हिजाब’, ‘बुर्खा’, ‘कड़ा’ और ‘कृपाण’ पहनने की अनुमति दी जाएगी।

गेट क्लोजिंग टाइम से कम से कम एक घंटे पहले इस तरह के कपड़े पहनने वाले या धातु के सामान ले जाने वाले उम्मीदवारों को अपने परीक्षा केंद्रों पर रिपोर्ट करनाहोगा। ऐसे कैंडिडेट जो ड्रेस कोड के खिलाफ कुछ भी पहने हुए हों या मेडिकल रीजन से कोई चिकित्सकीय उपकरण पहने हुए हों, उन्हें ऐडमिट कार्ड जारी होने से पहले ही इसकी अनुमति लेनी जरूरी होगी।

परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने सोमवार, 2 दिसंबर को अपनी वेबसाइट पर NEET परीक्षा के लिए पंजीकरण शुरू करने की घोषणा की थी। ड्रेस कोड में संशोधन के साथ, NTA ने सुरक्षा उपायों के लिए एक नंबर की भी घोषणा की है।

द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, आने वाले वर्ष से, छात्रों को पासपोर्ट आकार के फोटो के लिए मौजूदा मजबूरी के साथ एक पोस्टकार्ड आकार की तस्वीर अपलोड करनी होगी। परीक्षा में समान दिखने वाली तस्वीरों या समस्या के मामलों को चिह्नित करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का उपयोग भी किया जाएगा। उम्मीदवारों को कक्षा X और XII रोल नंबर और प्रमाण पत्र भी प्रदान करना होगा।

इस बार का NEET-UG पहले के मुकाबले बड़ा होने जा रहा है क्योंकि काम करना शुरू कर चुके 8 ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) और जवाहरलाल नेहरू इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रैजुएट मेडिकल एजुकेशनल ऐंड रिसर्च (JIPMER) पुदुचेरी भी इस बार इसमें शामिल हैं। इस बार की NEET परीक्षा 11 भाषाओं में आयोजित होगी और पहली बार इन सभी भाषाओं में इन्फॉर्मेशन बुलेटिन उपलब्ध कराया जाएगा।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...