ख़बरें

629 पाकिस्तानी लड़कियों को दुल्हन बता कर चीन को बेचा गया, रिपोर्ट में खुलासा

तर्कसंगत

Image Credits: Pngall/Nikkei

December 5, 2019

SHARES

पाकिस्तान की करीब 629 लड़कियों एवं महिलाओं को दुल्हन के रूप में चीन के पुरुषों को बेचा गया जो उन्हें चीन ले गए। देश के गरीब एवं कमजोर लोगों का शोषण करने वाले मानव तस्करों के नेटवर्कों का भंडाफोड़ करने का संकल्प लेने वाले पाकिस्तानी जांचकर्ताओं ने यह सूची तैयार की है।

 

पाकिस्तान सरकार का रहस्मय रवैया

मानव तस्करी से जुडी इस सूचि के जून में सामने आने के बाद से नेटवर्कों के खिलाफ जांच अभियान की रफ्तार लगभग थम सी गई है. पहले तो शातिर मानव तस्करों के खिलाफ मामले बंद हो गए. फिर अक्टूबर में फैसलाबाद की अदालत ने मानव तस्करी के संबंध में चीन के 31 नागरिकों को बरी कर दिया. अदालत के एक अधिकारी और मामले की जानकारी रखने वाले पुलिस जांचकर्ता के मुताबिक पुलिस की ओर से की गई शुरुआती जांच में कई महिलाओं ने गवाही देने से इनकार कर दिया था क्योंकि या तो वह डरी हुईं थी या उन्हें चुप रहने के लिए पैसा दिया गया था.

यह पाकिस्तान से चीन में 2018 से हुए देह व्यापार के सबसे विश्वसनीय आंकड़े हैं लेकिन पाकिस्तानी सरकार ने देह व्यापार को रोकने के सरकारी प्रयासों में जारी तेजी को जून, 2018 से रोक दिया है. कहा जा रहा है कि ऐसे प्रयासों से पाकिस्तान को चीन से अपने आर्थिक मुनाफे के नुकसान का डर है.

एक कार्यकर्ता सलीम इकबाल ने कहा कि इसी वक्त, सरकार ने जांच बंद कराने का प्रयास किया. नेटवर्कों की जांच कर रहे संघीय जांच एजेंसी के अधिकारियों पर अत्यधिक दबाव डालने की कोशिश की. इकबाल ने चीन से युवतियों को छुड़ाने और अन्य को चीन भेजे जाने से बचाने के लिए कई परिजनों की मदद की है. इस संबंध में घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले कई वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि मानव तस्करी की जांच धीमी हो गई, जांचकर्ता निराश हैं और पाकिस्तानी मीडिया पर इस मामले में रिपोर्टिंग बंद करने का दबाव डाला गया है. सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तानी सरकार इस मामले को तूल देने से इसलिए डर रही है क्योंकि उसे डर है कि इन मसलों को लेकर उसके चीन के साथ संबंध न प्रभावित हों.

विभिन्न समाचार रिपोर्ट के मुताबिक अधिकारियों ने बताया कि सालों साल पाकिस्तान से होने वाले इस देह व्यापार के अध्ययन के बाद उन्होंने पाया है कि कई महिलाओं ने बताया कि उन्हें जबरदस्ती प्रजनन उपचार के क्षेत्र में धकेला गया, कई के साथ शारीरिक और यौन शोषण हुआ और कुछ मामलों में उन्हें वेश्यावृत्ति में भी धकेला गया. उन्होंने बताया, हालांकि ज्यादा सूबूत नहीं मिले हैं लेकिन एक मामला सामने आया है जिसमें चीन भेजी गई एक महिला के कुछ अंगों को निकाले जाने की बात सामने आई है.

कुछ न्यूज़ एजेंसी ने पाकिस्तानी अधिकारी का इंटरव्यू उसके कार्यस्थल से हजारों किमी दूर किया ताकि उसकी पहचान छिपी रहे. इस अधिकारी ने बताया, चीनी और पाकिस्तानी दलाल खरीददार तथाकथित दूल्हों से चार लाख से 10 लाख पाकिस्तानी रुपये यानी करीब 25 हजार से 65 हजार अमेरिकी डॉलर लेते हैं लेकिन लड़कियों के परिवार को सिर्फ 2 लाख पाकिस्तानी रुपये ही दिए जाते हैं.

सितंबर में पाकिस्तानी जांच एजेंसी ने झूठी चीनी शादियों के मामले नाम की एक रिपोर्ट पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को भेजी थी. इसमें 52 चीनी नागरिकों के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी दी गई है. इन मामलों में से 20 सिर्फ पाकिस्तान के दो शहरों पूर्वी पंजाब प्रॉविन्स के फैसलाबाद और लाहौर के हैं. यह धंधा इस्लामाबाद में भी जारी है. बता दें कि इस फाइल में जिन आरोपियों का जिक्र था, उसमें कोर्ट द्वारा छोड़े गए 31 चीनी नागरिक भी शामिल थे. सरकार और प्रशासन इन मामलों को दबाने में जुटा है.

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...