ख़बरें

जेएनयू हमले के बाद देश भर में छात्रों ने इस हिंसा के खिलाफ एकजुट होकर विरोध किया

तर्कसंगत

Image Credits: Ramprasad

January 6, 2020

SHARES

दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में रविवार, 5 जनवरी को हथौड़ों, लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस नकाबपोश बदमाशों ने कैंपस को जैसे हाईजैक कर लिया था। JNU छात्र संघ (JNUSU) की अध्यक्ष आइश घोष और महासचिव सतीश चंद्र यादव सहित कई छात्र और शिक्षक गंभीर रूप से घायल हो गए।

हमले के विरोध में और घायल छात्रों और शिक्षकों के साथ एकजुटता दर्शाते हुए देश भर के विश्वविद्यालय के छात्र इस हिंसा का विरोध करने आगे आए।

 

दिल्ली

जेएनयू, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (JMI) के छात्रों पर हमले के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए छात्रों ने रविवार रात दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

 

 

रविवार देर रात अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में भी विरोध प्रदर्शन हुए।

 

 

मुंबई

जेएनयू छात्रों पर हिंसा फैलाने वाले गुंडों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर शहर भर के विभिन्न कॉलेजों के छात्र गेटवे ऑफ इंडिया पर बड़ी संख्या में निकले।जेएनयू के पूर्व छात्र और कार्यकर्ता उमर खालिद भी विरोध प्रदर्शन का हिस्सा थे और विरोध का नेतृत्व कर रहे थे।

 

 

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) बॉम्बे के छात्र भी JNU के छात्रों के साथ एकजुटता के साथ परिसर में एकत्र हुए।

 

 

पुणे

पुणे में फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) के छात्र जेएनयू के छात्रों और शिक्षकों पर हमले की निंदा करने के लिए एकत्र हुए।

 

 

बेंगलुरु

रविवार रात बेंगलुरु में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में मौन विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों ने मोमबत्ती जलाकर छात्रों और शिक्षकों पर हुए हमलों का विरोध किया।

 

 

हैदराबाद

हैदराबाद विश्वविद्यालय के स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) के छात्रों और सदस्यों ने रविवार देर रात विरोध मार्च निकाला।

 

 

तिरुवनंतपुरम

स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) की केरल इकाई ने JNU के छात्रों के साथ एकजुटता के साथ शहर में महालेखाकार कार्यालय में विरोध मार्च निकाला।

 

कोलकाता

जादवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों ने जेएनयू छात्रों के साथ एकजुटता में रविवार देर रात एक विरोध मार्च निकाला।

 

 

 

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...