ख़बरें

प्रकाश राज : सरकार को अगर बनाना ही है तो बेरोजगार युवाओं और अशिक्षितों का रजिस्टर बनाये

तर्कसंगत

Image Credits: Ghamasan

January 23, 2020

SHARES

साउथ और बॉलीवुड की फिल्मों में अपनी एक्टिंग से सबका दिल जीतने वाले एक्टर प्रकाश राज ने राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को लेकर निशाना साधा है. अभिनेता प्रकाश राज का कहना है कि देश को राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) की बजाय बेरोजगार युवाओं और अशिक्षितों का रजिस्टर बनाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि देश को तीन हजार करोड़ रुपये की प्रतिमाओं की जरूरत नहीं है और यदि सरकार कोई रजिस्टर बनाना चाहती है तो उसे देश के बेराजगार युवाओं और अशिक्षित बच्चों का रजिस्टर बनाना चाहिए.

हैदराबाद में नागरिकता संशोधित कानून (सीएए), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में एक रैली को संबोधित करते हुए अभिनेता ने कहा कि सरकार चाहती है कि प्रदर्शन हिंसक हों, लेकिन प्रदर्शनकारियों को खुद को अहिंसक प्रदर्शनों तक सीमित रखना चाहिए.

द हिन्दू की रिपोर्ट के मुताबिक प्रकाश राज ने कहा कि असम के 19 लाख लोगों को नागरिकता से महरूम किया गया. यहां तक कि मुस्लिम होने की वजह से कारगिल युद्ध के नायक के नाम को भी एनआरसी की सूची में शामिल नहीं किया गया.

इस दौरान मौजूदा छात्र नेताओं ने कहा कि देश की 70 फीसदी आबादी गरीब और समाज के निचले तबकों से है, जिनके पास अपनी नागरिकता को साबित करने के लिए दस्तावेज नहीं हैं.

बीते दिन भी प्रकाश राज ने प्रधानमंत्री द्वारा आयोजित की गई परीक्षा पे चर्चा को लेकर भी निशाना साधा था. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “परीक्षा पे चर्चा करने से पहले डिग्री के कागज दिखाओ.”

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...