ख़बरें

दिल्ली के स्कूलों की खराब स्थिति वाले बीजेपी के स्टिंग ऑपरेशन के ट्वीट का केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुला कर दिया जवाब

तर्कसंगत

Image Credits: India Today/News18

January 29, 2020

SHARES

दिल्ली सरकार, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के नेतृत्व में स्कूलों की निराशाजनक स्थिति पर भारतीय जनता पार्टी के दावों पर पलटवार करते हुए मंगलवार को केजरीवाल कहा कि भाजपा सदस्यों द्वारा शूट किए गए वीडियो नॉन वर्किंग स्कूलों के थे। इसके पहले सोमवार को, बीजेपी सांसदों ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के तहत सरकारी स्कूलों को ‘दयनीय’ स्थिति में बताते हुए उनके वीडियो साझा किये थे। गृह मंत्री अमित शाह ने “शैक्षिक क्रांति” के AAP के दावों को “बेनकाब” करने के लिए ट्विटर पर पोस्ट डाला था।

 

 

बीजेपी के आरोपों का जवाब देने के लिए AAP ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और भारतीय जनता पार्टी से कहा कि वो लोगों को आधा सच बताकर “बच्चों और माता-पिता का अपमान न करें”।

 

 

केजरीवाल ने मीडिया से कहा, “अगर आप हमसे घृणा करते हैं, तो आपको हमें गाली देनी चाहिए। लेकिन सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में पढ़ने वाले माता-पिता और 16 लाख बच्चों का अपमान न करें।”

AAP के अनुसार, भाजपा को दिल्ली के 1024 स्कूलों में से 8 में गड़बड़ी मिली है। केजरीवाल ने AAP के तहत स्कूलों के खराब बुनियादी ढांचे को उजागर करने के लिए भाजपा के वीडियो के जवाब में कहा, “दिल्ली सरकार के तहत कुल 1024 स्कूलों में से आठ में नगण्य दोष पाए गए हैं। इसका मतलब है कि बाकी स्कूल अच्छे हैं।” “दिल्ली के लोगों को दिल्ली की शिक्षा क्रांति पर गर्व है। जब अमित शाह ने दिल्ली की शिक्षा प्रणाली का मजाक उड़ाया तो मुझे दुख हुआ। मैंने उन्हें छात्रों और शिक्षकों से मिलने के लिए आमंत्रित किया। मुझे खुशी है कि उन्होंने अपने सभी सांसदों और नेताओं को  दिल्ली के स्कूल में गलती का पता लगाने के लिए भेजा।” केजरीवाल ने कहा।

बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने टूटे शौचालयों और खराब बुनियादी ढांचे पर ध्यान खेंचते हुए, खिचड़ीपुर में सरकारी माध्यमिक विद्यालय की 55 सेकंड की क्लिप जारी की थी।

 

 

AAP ने एक वीडियो के साथ इसका जवाब दिया जो गौतम गंभीर के दावों के उलट साबित हुआ।

 

 

सिसोदिया ने कहा, “जिस स्कूल की सुविधाएँ पुरानी हैं, उनका वीडियो दिखाकर दावा किया जा रहा है  असल में वीडियो में दिखाए जाने वाला स्कूल 9 अक्टूबर, 2019 से स्कूल नहीं चल रहा है। उपमुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कई वीडियो में उन स्कूल भवनों को दिखाया गया है जहाँ कक्षाएं संचालित नहीं की जा रही हैं। सिसोदिया ने यह भी कहा कि या तो इमारतें निर्माणाधीन थीं या स्कूल नगरपालिका की स्थापना थी। AAP ने बीजेपी सांसद हंस राज हंस पर एक कमरा खोलने और वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए एस्टेट मैनेजर को धमकाने का भी आरोप लगाया है। हंस ने आरोपों का जवाब दिया और दावा किया कि “आरोप झूठे हैं और कोई भी कैमरा ले जा कर खुद से जांच कर सकता है।”

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...