सचेत

कोलकाता में महिलाओं की सेक्स क्लिप बनाकर ब्लैकमेल करते दो बिजनेसमैन के बेटे गिरफ्तार

तर्कसंगत

January 31, 2020

SHARES

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता पुलिस ने बुधवार (29 जनवरी) को शहर के दो बड़े उद्योगपतियों के बेटों को अश्लील तस्वीरें खींच कर और वीडियो बनाकर सार्वजनिक करने की धमकी देने व ब्लैकमेल करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। दोनों पर आरोप है कि ये अलग-अलग महिलाओं से संबंध बनाकर उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग कर लेते थे और फिर उसी क्लिप के जरिए महिलाओं को ब्लैकमेल कर उनसे पैसे ऐंठते थे। रैकिट में कथित तौर पर शामिल इनमें से एक के घरेलू नौकर को भी गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, ये लोग पिछले कई वर्षों से यह रैकिट चला रहे थे। तीन महीने की जांच के बाद इनके पास से अब तक 182 महिलाओं के वीडियो बरामद हुए हैं। तीन महीने तक चली जांच के बाद पुलिस ने आदित्य अग्रवाल और अनीश लोहारुका को गिरफ्तार किया है। इनके साथ ही उनके नौकर कैलाश यादव (कुक) को भी गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने पीड़ितों में से एक से 10 लाख रुपये की मांग की थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, आदित्य अग्रवाल का परिवार एक मशहूर एथनिक कपड़ों के ब्रैंड का मालिक है जबकि अनीश लोहारुका का परिवार रियल एस्टेट के बिजनस में है और उनके कई होटल हैं। तीनों आरोपियों को बुधवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें अगले गुरुवार (4 फरवरी) तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। इसका खुलासा तब हुआ जब इन लोगों ने एक युवती को फोन पर ब्लैकमेल कर 10 लाख रुपये की मांग की।

लोहारुका परिवार के एक सदस्य ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि अनीश को इस केस में फंसाया गया है। अग्रवाल परिवार की ओर से किसी ने कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर दिया। कोलकाता पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने इन दोनों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि एक विस्तृत जांच से पता चला है कि दोनों “महिलाओं के साथ संबंधों में प्रवेश करते हैं और अंतरंग क्षणों को रिकॉर्ड करते हैं”।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि, अनीश लोहारूका का एक लैपटॉप भी सीज किया गया है। लैपटॉप को फरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। अधिकारी के मुताबिक, अनीश के लैपटॉप में 182 फोल्डर मिले। हर एक फोल्डर में एक महिला के साथ ‘सेक्स क्लिप’ है। पुलिस के मुताबिक, लैपटॉप में बरामद क्लिप्स साल 2013 तक पुरानी हैं।

अधिकारियों ने बताया कि ये लोग महिलाओं से दोस्ती करते और उनके साथ शारीरिक संबंध बनाते थे। पिछले साल इन्होंने कैलाश को भी अपने साथ शामिल कर लिया, जो लोहारुका परिवार का घरेलू नौकर है। कैलाश को महिलाओं को धमकाने और फिरौती न देने पर वीडियो वायरल करने की धमकी देने के लिए रखा गया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक जांच में शामिल एक अधिकारी ने बताया कि, ‘दोनों मुख्य आरोपियों (आदित्य और अनीश) से पूछताछ में पता चला है कि वे पहले महिलाओं से दोस्ती करते थे और फिर उन्हें अलग-अलग जगहों पर बुलाते। यहां पहले से कई कैमरे लगे होते थे, जिसमें इनके निजी पलों को रिकॉर्ड कर लिया जाता था। इन्होंने पिछले करीब एक साल से महिलाओं से फिरौती मांगने का धंधा शुरू किया। इन्होंने एक लड़की से 5 लाख रुपये फिरौती मांगी, जो उसने दे दी। हालांकि, इसके बाद इन्होंने 10 लाख रुपये और मांगे जिसके बाद उसने साइबर सेल में शिकायत कर दी।’

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...