ख़बरें

[वीडियो] बंगाल में महिला टीचर के साथ टीएमसी नेता की बदसलूकी

तर्कसंगत

Image Credits: Madhyamam

February 3, 2020

SHARES

‘दीदी’ के बंगाल में एक शिक्षिका समेत दो महिलाओं को रस्सी से बांधकर सड़क पर घसीटने और पीटने का मामला सामने आया है. इस घटना के लिए आरोप भी उन्हीं की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के एक नेता पर लगा है. पार्टी ने मामले की जांच रिपोर्ट आने तक आरोपी नेता को पार्टी से निलंबित कर दिया है. घटना उत्तर बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले की है.

इस घटना से जुड़ा भयावह वीडियो सामने आया है, जिसमें एक महिला के पैरों को रस्सी से बांधकर सड़क पर घसीटते हुए भीड़ दिख रही है. इस भीड़ का नेतृत्व टीएमसी पंचायत नेता अमल सरकार कर रहा था. जब महिला की बहन ने इसका विरोध किया तो उसे भी धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया गया और उसके साथ मारपीट और गालीगलौच की गई. महिला का कसूर बस इतना था कि पंचायत द्वारा बनाई जा रही सड़क के लिए उनकी जमीन हथियाने का विरोध किया था. रविवार को टीएमसी के जिला प्रमुख अर्पिता घोष ने पंचायत नेता अमल सरकार को निलंबित करने का आदेश दे दिया. हालांकि, देर रविवार तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. घटना दक्षिण दीनाजपुर जिले के फाटा नगर गांव की है.

 

 

आरोप है कि अमल और उनके साथ पहुंचे समर्थकों ने महिला शिक्षक की पिटाई कर दी और उसे रस्सी से बांधकर सड़क पर घसीटा. स्मृति की बड़ी बहन ने जब इसका विरोध किया और उसे बचाने की कोशिश की तो उसके साथ भी मारपीट और अभद्र व्यवहार किया गया. महिला शिक्षक ने थाने पहुंचकर अमल समेत पांच आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी है. घटना 31 जनवरी की बताई जाती है.

अपनी शिकायत में महिला शिक्षक ने कहा है कि उससे 12 फीट चौड़ी सड़क के लिए जमीन मांगी गई थी. उसने जमीन दे भी दी, लेकिन बाद में सड़क की चौड़ाई 24 फीट कर दी गई. इसका वह विरोध कर रही थी. महिला के साथ इस तरह की बर्बर घटना में नाम आने के बाद टीएमसी की जिलाध्यक्ष अर्पिता घोष ने जांच कराने और जांच रिपोर्ट आने तक अमल की सदस्यता निलंबित करने का ऐलान किया है.

दोनों महिलाओं को अस्पताल ले जाया गया. बड़ी बहन सोमा दास जिसने अपनी बहन पर हुए हमले का विरोध किया था, उसे प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया. स्मृतिकोना दास को इलाज के बाद शनिवार को डिस्चार्ज किया गया.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...