ख़बरें

भजनपुरा : जांच में खुलासा ख़ुदकुशी नहीं बल्कि परिवार के 5 सदस्यों की हत्या की गयी

तर्कसंगत

Image Credits: Samayam.Com

February 13, 2020

SHARES

देश की राजधानी दिल्ली के भजनपुरा इलाके में एक ही परिवार के पांच लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई थी. पहली नज़र में पांच लोगों की मौत आत्महत्या के रूप में देखी जा रही थी. शव कई दिन पुराने थे. लेकिन, अब दिल्ली पुलिस की जांच और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि एक ही परिवार के पांच लोगों ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि किसी धारदार हथियार से उनकी हत्या की गई है. सभी के गर्दन और शरीर के दूसरे हिस्सों में ज़ख्म के निशान हैं. दिल्ली पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. हालांकि, घर में लूटपाट के निशान नहीं मिले हैं. हत्याकांड के मकसद का पता लगाने की कोशिश की जा रही है. साथ ही आरोपी की तलाश भी तेज कर दी गई है.

मकान में कुछ दिनों पहले ही रहने आया था परिवार

बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले ही यह परिवार इस मकान में किराए पर रहने के लिए आया था. पति-पत्नी के अलावा उनके तीन बच्‍चे भी साथ में रह रहे थे. शंभूनाथ (43) अपनी पत्नी सुनीता (38) और बेटी कोमल (16) के अलावा बेटा सचिन (14) और छोटे बेटे शिवम के साथ रह रहे थे. मकान में बाहर से ताला लगा हुआ था. मकान से बदबू आने पर पड़ोसियों को शक हुआ और इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने ताला तोड़कर घर के अंदर दाखिल हुई तब जाकर इस चौंकाने वाली घटना का पता चला.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, ये शव कुछ दिन पुराने हैं और उन्‍हें क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया गया है. बरामद शवों की पहचान शंभु कुमार, सुनीता देवी, शिवम, सचिन और कोमल के तौर पर की गई है. भजनपुरा इलाके में सड़ी-गली हालत में जो लाशें मिली हैं, उसके बारे में पुलिस ने बताया कि ये पति-पत्नी और तीन बच्चों के शव हैं. पुलिस को शुरुआती तौर पर मामला आत्महत्या का लग रहा था. पुलिस का कहना है कि बच्चों की उम्र 18, 16 और 12 साल के आसपास है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक पति बैटरी रिक्शा चलाता था.

मृतकों की रिश्तेदार सोनी जायसवाल ने मीडिया को बताया था कि परिवार पहले B ब्लॉक में रहता था और जूस की दुकान थी. करीब आठ महीने पहले ही शम्भू जायसवाल ने ई-रिक्शा खरीदा था. एक बेटा शिवम 18 साल का था और 12वीं क्लास में पढता था. दूसरे बेटे का नाम सचिन (15) था. परिवार बिहार का रहने वाला है. उधर, ज्‍वाइंट सीपी का कहना है की पति-पत्नी की लाश अलग कमरे में थी और तीनों बच्चो की लाश अलग कमरे में. शवों की हालत देखकर लग रहा है कि मृत्यु को थोड़ा समय हो गया है. घर के बाहर ताला लगा था, लेकिन फिलहाल सभी पहलुओं की जांच की जा रही है. घर के अन्दर से लूटपाट के भी सुराग नहीं मिले हैं.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...