ख़बरें

हमाम में सभी नंगे हैं, दिल्ली के आधे से ज्यादा विधायकों पर गंभीर आपराधिक मामले: एडीआर रिपोर्ट

तर्कसंगत

February 14, 2020

SHARES

दिल्ली विधानसभा के लिए नवनिर्वाचित 70 विधायकों में 37 पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक इन पर हत्या का प्रयास और एक मामला तो दुष्कर्म से भी संबंधित है।

दरअसल चुनावी हलफनामे में खुद विधायकों द्वारा दी गई जानकारी के विश्लेषण में 43 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामलों का पता चला है। इनमें से 37 पर गंभीर किस्म के मामले हैं।

गैर सरकारी संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में कहा गया है कि इन पर दुष्कर्म, हत्या के प्रयास, महिलाओं के खिलाफ अपराध जैसे मामले दर्ज हैं। पिछली विधानसभा में 24 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज थे। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि आम आदमी पार्टी के 45 और भाजपा के सात विधायकों ने अपनी संपत्ति एक करोड़पति से ज्यादा बताई है।

आप विधायक लाकरा 292 करोड़ के साथ सबसे अमीर

मुंडका निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए आम आदमी पार्टी के धरमपाल लाकरा दिल्ली के सबसे अमीर विधायक हैं। उन्होंने अपनी संपत्ति 292 करोड़ रुपये से ज्यादा बताई है। इस सूची में दूसरे नंबर पर आरकेपुरम की विधायक प्रमिला टोकस हैं, जिनके पास 80 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति है। उनके बाद पटेल नगर के राजकुमार आनंद 78 करोड़ रुपये के साथ तीसरे सबसे अमीर विधायक हैं। वहीं मंगोलपुरी की आप विधायक राखी बिड़ला ने सबसे कम 76,000 रुपये की संपत्ति की घोषणा की है।

भाजपा के अभय वर्मा और अनिल वाजपेयी ने खुद पर धारा 354 अंतर्गत मामला दर्ज होने की जानकारी दी है।  एडीआर के अध्ययन के मुताबिक आप के 45 विधायक और भाजपा के सात विधायकों ने अपनी संपत्ति एक करोड़ रुपये से ज्यादा बताई है। भाजपा के आठ विधायकों की औसत संपत्ति 9.10 करोड़ रुपये है‍। विधायकों की औसत संपत्ति 2015 में 6.29 करोड़ से बढ़कर 2020 में 14.29 करोड़ हो गई है। आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल के पास 3.44 करोड़ रुपये की संपत्ति है। मनीष सिसोदिया के पास 93.50 लाख रुपये की संपत्ति है।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...