ख़बरें

धारा 370 के ख़िलाफ़ बोलने वाली ब्रिटिश सांसद को दिल्ली एयरपोर्ट से वापस लौटाया

तर्कसंगत

Image Credits: One India

February 17, 2020

SHARES

ब्रिटिश सांसद डेबी अब्राहम्स ने दावा किया है कि वैध वीज़ा होने के बावजूद उन्हें भारतीय एयरपोर्ट से लौटने पर मजबूर कर दिया गया. डेबी अब्राहम्स ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने के फैसले का विरोध किया था.  इस ब्रिटिश सांसद ने सोमवार को दावा किया कि उन्हें भारत आने की मंजूरी नहीं दी गई. उन्होने कहा कि उन्हें वैध वीजा होने के बावजूद भारतीय एयरपोर्ट से वापस कर दिया गया. हालांकि, भारत सरकार ने आरोपों को खारिज करते हुए बताया कि सांसद को पहले ही बताया जा चुका था कि उनका ई-वीजा रद्द कर दिया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, अब्राहम अपने सहयोगी हरप्रीत उपल सुबह 9 बजे दुबई से एमिरेट्स की फ्लाइट से एयरपोर्ट पहुंचीं. उपल ने कहा कि आव्रजन अधिकारियों ने अब्राहम के प्रवेश से इनकार करने और उसके वीजा को रद्द करने का कोई कारण नहीं बताया.

 

 

अब्राहम्स : वीजा रद्द करने वाले को कारण पता नहीं था

अब्राहम्स 2011 से सांसद हैं. उन्होंने कहा, “मैंने यह जानने की काफी कोशिश की कि आखिर मेरा वीजा अस्वीकृत क्यों हुआ? फिर मुझे वीजा ऑन अराइवल भी मिल सकता था, जबकि वह भी नहीं दिया गया. जिस अधिकारी ने मेरा वीजा रद्द किया, उसे भी इसके पीछे का कारण नहीं पता था. उसने इसके लिए माफी भी मांगी। अब मैं यहां से वापस जाने का इंतजार कर रही हूं. मैं यह कहना चाहती हूं कि मेरे साथ यहां पर अपराधियों की तरह व्यवहार हुआ. मुझे उम्मीद थी कि वह इस दौरे के दौरान मुझे मेरे परिवार और दोस्तों से मिलने का अवसर देंगे।” ब्रिटेन की लेबर पार्टी की सदस्य डेबी अब्राहम्स कश्मीर के लिए ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप की अध्यक्ष भी हैं. डेबी ने एक बयान जारी कर कहा कि वह सोमवार सुबह वो दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची थीं. लेकिन उन्हें वहां बताया गया कि उनका ई-वीजा रद्द कर दिया गया है. उन्होंने कहा है कि उनका भारत वीज़ा अक्टूबर 2020 तक वैध है. 

डेबी ने ट्विटर पर लिखा कि वो अपने भारतीय रिश्तेदारों से मिलने भारत जा रही थी. उनके साथ उनका भारतीय स्टाफ भी था. डेबी अब्राहम्स ने कहा कि वो अभी भी ब्रिटेन में इन मुद्दों पर अपनी सरकार और अन्य लोगों को चुनौती देती रहेंगी.उधर भारत के गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटिश सांसद को विधिवत सूचित किया गया था कि उसका वीजा रद्द कर दिया गया था और वह इस तथ्य को जानने के बावजूद दिल्ली पहुंचीं.

 

अब्राहम्स : अनुच्छेद 370 हटाना कश्मीरियों के साथ धोखा

5 अगस्त 2019 को कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर सांसद अब्राहम्स ने भारत सरकार की आलोचना कीं थी। उन्होंने ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग को पत्र लिखकर कहा था कि सरकार का यह कदम कश्मीर के लोगों के साथ धोखा है। अब्राहम्स ब्रिटिश संसद में कश्मीर मुद्दे को लेकर गठित संसदीय समूह की अध्यक्षता भी कर चुकी हैं। हाल ही में भारत सरकार द्वारा 25 राजनयिकों को कश्मीर का दो दिन का दौरा करवाया गया था। इसका उद्देश्य कश्मीर की हालिया स्थिति से विदेशी राजनयिकों को अवगत कराना था।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...