ख़बरें

ओवैसी के सामने ‘पाक जिंदाबाद’ बोलने वाली युवती के पिता ने कहा ‘मैं ये बर्दाश्त नहीं करूँगा’

तर्कसंगत

February 21, 2020

SHARES

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोना के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। जिसके बाद स्थानीय अदालत ने जमानत देने से इनकार करते हुए अमूल्या को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

बेंगलुरु (पश्चिम) के डीसीपी बी रमेश ने कहा कि अमूल्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए (देशद्रोह का अपराध) के तहत मामला दर्ज किया गया है। वहीं एक न्यायिक मजिस्ट्रेट ने उन्हें जमानत नहीं दी। उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

दरअसल, कर्नाटक के बेंगलुरु में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी रैली को संबोधित करने जा रहे थे, तभी एक लड़की उनके मंच पर पहुंची और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने लगी।

इस दौरान असदुद्दीन ओवैसी भी मंच पर मौजूद थे और उन्होंने इसका विरोध किया। इसके बाद लड़की से माइक छीना गया, लेकिन फिर भी वह पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाती रही। लिहाजा आयोजकों ने फौरन पुलिस को बुलाया। पुलिस ने प्रदर्शनकारी लड़की को हिरासत में ले लिया और थाने ले गई। प्रदर्शनकारी लड़की की पहचान अमूल्या के रूप में हुई है। लड़की के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए (देशद्रोह) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

 

 

पिता ने बयान पर जताई नाराजगी

इंडिया टुडे से बात करते हुए, अमूल्य के पिता, जो एक स्थानीय जेडीएस होबली स्तर के अध्यक्ष हैं, ने कहा, “यह बिल्कुल गलत है। मैंने जो कहा, उसे मैं बर्दाश्त नहीं करूंगा। मैंने कई बार उन्हें मुस्लिमों के साथ शामिल नहीं होने के लिए कहा है, लेकिन उन्होंने नहीं किया। सुनो। मैंने उसे कई बार भड़काऊ बयान नहीं देने के लिए कहा है, लेकिन उसने नहीं सुना। ”

 

 

 

ओवैसी ने भी की निंदा

बता दें कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में आयोजित कार्यक्रम में शामिल अमूल्या ने जब ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए इस दौरान एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी वहां मौजूद थे। उन्होंने फौरन युवती की इस हरकत की निंदा करते हुए कहा कि इससे से सहमत नहीं है और आश्वस्त करते हैं ‘हम भारत के लिए हैं’।  युवती को मंच से नीचे उतारे जाने के बाद ओवैसी ने कहा कि न तो मेरा और न ही मेरी पार्टी का उक्त महिला से कोई संबंध है। हम इस कृत्य की निंदा करते हैं। आयोजकों को उसे नहीं बुलाना चाहिए था। यदि मुझे पता होता कि ऐसा होगा तो मैं यहां नहीं आता। हम भारत के लिए हैं और किसी भी तरीके से अपने दुश्मन राष्ट्र पाकिस्तान का समर्थन नहीं करेंगे। हमारा मकसद देश बचाने के लिए है।

फरवरी में अमूल्य ने जो फेसबुक पोस्ट डाला था, उसमें उन्होंने कहा था कि “एक राष्ट्र का मतलब उसके लोगों से है, जिन्हें अपनी मूलभूत सुविधाएं मिलनी चाहिए और अपने मौलिक अधिकारों का लाभ उठाना चाहिए” और वह एक व्यक्ति जिंदाबाद के नारे लगाने से उस देश का नहीं हो जाता है”। उन्होंने यह भी लिखा: “हिंदुस्तान ज़िंदाबाद, पाकिस्तान ज़िंदाबाद, बांग्लादेश ज़िंदाबाद, श्रीलंका ज़िंदाबाद, नेपाल ज़िंदाबाद, अफ़ग़ानिस्तान ज़िंदाबाद, चीन ज़िंदाबाद, भूटान ज़िंदाबाद, कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन सा देश है, सभी देशों के लिए ज़िंदाबाद।”

 

ಹಿಂದುಸ್ತಾನ್ ಜಿಂದಾಬಾದ್!ಪಾಕಿಸ್ತಾನ್ ಜಿಂದಾಬಾದ್!ಬಾಂಗ್ಲಾದೇಶ್ ಜಿಂದಾಬಾದ್!ಶ್ರೀಲಂಕಾ ಜಿಂದಾಬಾದ್!ನೇಪಾಳ ಜಿಂದಾಬಾದ್!ಅಫ್ಘಾನಿಸ್ತಾನ್…

Posted by Amulya Leona on Sunday, 16 February 2020

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...