ख़बरें

विधायिका सुमन हरिप्रिया ने किया दावा गोमूत्र और गोबर से हो सकता है कोरोना वायरस का इलाज

तर्कसंगत

Image Credits: ZeeNews/NationsRoot

March 3, 2020

SHARES

दुनिया भर में कोराना वायरस से दहशत का माहौल है। चीन में 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं। कई हजार लोग इसकी चपेट में है। वहीं कोरोना वायरस देश की राजधानी दिल्ली तक पहुंच गई है। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली में एक और तेलंगाना में एक संदिग्ध मरीज की पुष्टि हुई है। इस सब के बीच बीजेपी विधायक का कोरोना वायरस पर नया ज्ञान दिया है। असम विधानसभा के बजट सत्र के दौरान बीजेपी विधायिका सुमन हरिप्रिया ने दावा किया कि गाय के गोबर और मूत्र से घातक कोरोना वायरस को ठीक किया जा सकता है। गाय के गोबर और मूत्र में कैंसर के रोगियों को ठीक करने की शक्ति है।

राज्य विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन मवेशियों की बांग्लादेश तस्करी के मामले पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा, ‘हम सबको पता है कि गाय के गोबर के कितने फायदे हैं। इसी तरह गोमूत्र का छिड़काव इलाके को शुद्ध करने के लिए भी किया जाता है… मेरा मानना है कि इसी तरह गोमूत्र और गोबर से कोरोना वायरस भी ठीक हो सकता है।’

इससे पहले कोरोना वायरस के इलाज को लेकर हिंदू महासभा ने यह भी दावा किया था कि गोबर और गो मूत्र से कोरोना वायरस को ठीक किया जा सकता है। इसके अलावा, यदि रोगी के शरीर पर गाय के गोबर को ओम नमः शिवाय का जाप करके लगाया जाता है तो वह जीवित रहता है।

देश में कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद अब से कुछ देर पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लोगों से न घबराने की अपील की है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के तरीके भी बताए हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपने बचाव के लिए छोटे लेकिन असरदार उपाय अपनाने होंगे। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि भारत सरकार कोरोना वाररस से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है। बता दें कि सोमवार को दिल्ली और तेलंगाना में कोरोना वायरस के मरीज मिले थे। जिसके बाद से देश भर की एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं।

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना वायरस से मुकाबलो करने के लिए वृहद स्तर पर तैयारियों की समीक्षा की गई है। विभिन्न मंत्रालय और राज्य सरकारें इसके लिए मिल कर काम कर रही हैं। जो लोग भारत आ रहे हैं उनकी जांच हो रही है ताकि तुरंत कार्रवाई की जा सके। देशवासियों को इसे लेकर घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...