सचेत

21 दिनों तक देश में क्या खुला रहेगा और क्या बंद?

तर्कसंगत

Image Credits: Ajay Bharat

March 25, 2020

SHARES

जान है तो जहान है’ कहते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार रात देशभर में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। महामारी बन चुके कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर एक सप्ताह में दूसरी बार प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित किया था।

इस घोषणा के बाद देश अगले 21 दिनों तक पूरी तरह बंद रहेगा। हालांकि, आवश्यक सेवाओं को इस लॉकडाउन से बाहर रखा गया है।

राज्य और केंद्र सरकार सशर्त काम करेंगी

केंद्र सरकार के स्वायत्त/अधीनस्थ कार्यालय और सभी सरकारी कंपनियां बंद रहेंगी। हालांकि, रक्षा, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, ट्रेजरी, CNG, LPG, PNG, आपदा प्रबंधन, बिजली उत्पादन और ट्रांसमिशन यूनिट, डाकघर, अर्ली वॉर्निंग एजेंसी और NIC के दफ्तर खुले रहेंगे। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की स्वायत्त संस्थाओं और कंपनियों के दफ्तर बंद रहेंगे। वहीं, पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, अग्निशमन, आपातकालीन सेवाएं, जिला प्रशासन, ट्रेजरी, आपदा प्रबंधन और जेलें खुली रहेंगी। इसके अलावा बिजली, पानी, स्वच्छता आदि सेवाएं भी खुली रहेंगी। गृह मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन में कहा गया है कि इन विभागों कम से कम से कर्मचारियों की सेवा ली जानी चाहिए और बाकी विभागों के कर्मचारी घर से काम कर सकते हैं।

स्वास्थ्य सेवायें सुचारु रूप से चलेंगे

अस्पताल और अन्य संबंधित मेडिकल संस्थान, उत्पादन और आवंटन यूनिट, निजी और सरकारी क्षेत्र की डिस्पेंसरियां, केमिस्ट, लैब, क्लीनिक, नर्सिंग होम और एंबुलेंस आदि काम करते रहेंगे। स्वास्थ्य कर्मियों, नर्सों, पैरामेडिकल स्टाफ और इससे जुड़े अन्य कर्मचारियों को आने-जाने की छूट रहेगी। वहीं सभी कमर्शियल और प्राइवेट संस्थान, यातायात से जुड़ी सभी वायु, रेल और सड़क सेवाएं बंद रहेंगी।रेलवे और कई राज्यों में सार्वजनिक यातायात जनता कर्फ्यू के दिन से ही बंद है।

जरूरत की सेवायें खुली रहेंगी

खाद्य सामग्री, राशन, फल, सब्जियां, डेयरी, दूध, मीट, मछली, चारे आदि की दुकानें खुली रहेंगी। हालांकि, कई राज्यों में इनके खुलने के समय निर्धारित किया गया है। स्थानीय प्रशासन होम डिलीवरी को प्रोत्साहित कर सकता है ताकि लोग बाहर न आएं। वहीं इस दौरान बैंक, बीमा दफ्तर और ATM खुले रहेंगे। प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कर्मियों को काम के लिए बाहर आने-जाने की छूट रहेगी। पेट्रोल पंप, LPG, पेट्रोलियम और गैस आउटलेट खुले रहेंगे।

इंटरनेट, ब्रॉडकास्ट और केबल सर्विस जारी रहेगी। लॉकडाउन के दौरान फंसे पर्यटकों और दूसरे लोगों, वायु और जल परिवहन के चालक दल के सदस्यों, मेडिकल और आपातकालीन स्टाफ के लिए होटल, होमस्टे, लॉज और मोटल खुले रहेंगे। लोगों को क्वारंटीन करने के लिए इस्तेमाल की जा रही इमारतें भी खुली रहेंगी। जरूरी वस्तुओं के उत्पादन करने वाली यूनिट आदि भी खुली रहेंगी। लगातार खुली रहने वाली प्रोडक्शन यूनिट राज्य सरकारों से अनुमति के बाद खुली रह सकती हैं।

धार्मिक और सार्वजनिक स्थान रहेंगे बंद

मॉल, सिनेमा हाल, जिम, स्पा, स्पोर्ट्स क्लब, रेस्टोरेंट, दुकानें और ढाबे आदि बंद रहेंगे। इसके अलावा सभी तरह के शिक्षण, ट्रेनिंग, रिसर्च और कोचिंग संस्थान, सभी धार्मिक स्थल और पूजास्थल बंद रहेंगे। किसी भी तरह के धार्मिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन की इजाजत नहीं है। शव यात्रा में 20 से ज्यादा लोगों के शामिल होने पर रोक लगी है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...