ख़बरें

आंध्र प्रदेश: LG कैमिकल प्लांट में जहरीली गैस लीक होने से आठ की मौत, सड़क पर बेहोश हो कर गिरे लोग

तर्कसंगत

Image Credits: financialexpress/tribuneindia

May 7, 2020

SHARES

कोरोना वायरस महामारी के बीच आंध्र प्रदेश से दुखद घटना सामने आई है। राज्य के विशाखापट्टनम में संचालित एक मल्टीनेशनल कंपनी के केमिकल प्लांट में जहरीली गैस लीक होने से एक बच्चे सहित आठ लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा गैस की चपेट में आने से सैकड़ों की संख्या में लोग बीमार हो गए।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने आस-पास स्थित गांवों को खाली कराना शुरू कर दिया है। घटना से चारो तरफ अफरा-तफरी मची हुई है।

बताया जा रहा है कि विशाखा एलजी पॉलिमर कंपनी शहर के आरआर वेंकटपुरम इलाके में है. कंपनी से लीक हुई जहरीली गैस से तीन किलोमीटर का इलाका प्रभावित है. पांच गांव खाली कराए गए हैं. वहीं सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ की समस्या लेकर अस्पताल पहुंचे हैं.

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार विशाखापट्टनम के RS वेंकटपुरम गांव में LG पॉलिमर इंडस्ट्री प्लांट में सुबह तीन बजे अचानक जहरीली गैस का रिवास शुरू हो गया। उस दौरान आस-पास के गांवों में लोग सोए हुए थे। विशाखापटनम नगर निगम के कमिश्नर श्रीजना गुम्मल्ला ने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, पीवीसी या स्टेरेन गैस का रिसाव हुआ है। रिसाव की शुरुआत सुबह 2.30 बजे हुई. गैस रिसाव की चपेट में आस-पास के सैकड़ों लोग आ गए और कई लोग बेहोश हो गए, जबकि कुछ लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है। ऐसे लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा है।

वेस्ट जोन की पुलिस उपायुक्त स्वरूपा रानी ने बताया कि गैस का रिसाव करीब तीन किलोमीटर में फैल गया है। इससे लोगों की आंखों में जलन और दम घुटने की शिकायत हो रही है। अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है।

जिला कलक्टर ने बताया कि गैस के तीन किलोमीटर के क्षेत्र में फैलने के कारण लोग इसकी चपेट में आ गए। गैस का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर हो रहा है।

सुबह जगह लोग घरों से बाहर निकले तो गैस के कारण कई लोग आंखों में जलन और दम घुटने के कारण बेहोश होकर सड़कों पर ही गिर गए। कई गांवों में ऐसी स्थिति बताई गई है। आस-पास के सभी गांवों में एम्बुलेंस भेजकर लोगों को अस्पताल भेजा रहा है।

बता दें कि हिंदुस्तान पॉलिमर कंपनी की स्थापना 1961 में हुई थी। 1997 में कंपनी को साउथ कोरिया की LG केमिकल ने टेकओवर कर लिया था और इसे LG पॉलिमर नाम दिया था। प्लांट में पॉलीस्टाइनिन और एक्सपेंडबल पॉलीस्टायर्न बनाने का काम किया जाता है।

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि मामले में कंपनी के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया गया है। कंपनी 40 दिन के लॉकडाउन के बाद प्लांट को गुरुवार से फिर से शुरू करने वाली थी। तड़के ही यह हादसा हो गया।

निगम ने एक ट्वीट में कहा, “गोपालपत्तनम में एलजी पॉलिमर्स से गैस का रिसाव हुआ है. इन स्थानों के आसपास रहने वाले लोगों से आग्रह है कि वे सुरक्षा एहतियात बरतते हुए घरों से बाहर नहीं निकलें.” निगम ने कहा, “अपनी नाक और मुंह को ढकने के लिए कृपया गीले कपड़े का मास्क की तरह इस्तेमाल करें.”

निगम ने कहा कि उसके अधिकारी पानी का छिड़काव करके गैस रिसाव के प्रभाव को कम करने की कोशिश कर रहे हैं. साथ में लोगों से मास्क का इस्तेमाल करने के लिए कहने के वास्ते सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली का उपयोग किया जा रहा है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...