ख़बरें

महाराष्ट्र : घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों को मालगाड़ी ने अपने चपेट में लिया, 15 की मौत

तर्कसंगत

Image Credits: ANI/Twitter

May 8, 2020

SHARES

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक मालगाड़ी ने घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों को कुचल दिया, जिनसे 15 मजदूरों की मौके पर मौत हो गई और पांच घायल हुए हैं।

ये मजदूर मध्य प्रदेश स्थित अपने घर लौट रहे थे। रेल मंत्रालय ने कहा है कि लोको पायलट ने मजदूरों को पटरी पर देखकर ट्रेन रोकने की कोशिश की थी, लेकिन यह मजदूरों को कुचलती हुई आगे निकल गई।

यह हादसा बदनापुर और कर्माड के बीच हुआ है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक हादसा सुबह करीब 5.30 बजे हुआ। सूत्रों ने जानकारी दी कि ये प्रवासी श्रमिक पड़ोसी जिले जालना में एक प्रमुख इस्पात संयंत्र के लिए काम कर रहे थे।
सभी मजदूर औरंगाबाद से गांव जानेवाली ट्रेन पकड़ने के लिए जालना से औरंगाबाद पैदल जा रहे थे। रात अधिक होने के चलते सभी ने सटाना शिवार इलाके में पटरी पर ही अपना बिस्तर लगा लिया। सुबह इसी पटरी से एक माल गाड़ी गुजरी और 15 मजदूर उसकी चपेट में आ गए।

औरंगाबाद की एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि सभी लोग जालना में कंपनी में काम करते थे। भुसावल जाकर ट्रेन पकड़ने वाले थे। सभी लोग 45 किलोमीटर का सफर तय कर चुके थे। हादसे के बाद ट्रैक पर मजदूरों के शवों के साथ रोटियां भी बिखरी हुई हैं जो उन्होंने खाने के लिए अपने पास रखी थीं। नींद में होने की वजह से किसी को भी संभलने का मौका नहीं मिला।

प्रधानमंत्री मोदी ने औरंगाबाद में हुए रेल हादसे पर दुख जताया है। प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, ‘औरंगाबाद में हुए रेल हादसे में लोगों की जान जाने से दुख हुआ है। रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है वो इस घटना पर नजर बनाए हुए हैं। सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।’

दक्षिण सेंट्रल रेलवे की जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि मालगाड़ी का एक खाली डिब्बा मजदूरों के ऊपर से निकल गया था।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...