ख़बरें

सिक्किम बॉर्डर पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प

तर्कसंगत

Image Credits: Fortune/ETimes/Prabhat Khabar

May 11, 2020

SHARES

शनिवार को उत्तर सिक्किम में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच झड़प हुई जिसमें दोनों तरफ के कई जवान घायल हो गए। आपसी बातचीत के बाद सैनिकों ने अपने स्तर पर ही मामले को निपटा लिया।

हिंदुस्तान टाइम्स‘ के मुताबिक, इस झड़प में दोनों तरफ के लगभग 150 सैनिक शामिल थे और चार भारतीय और सात चीनी सैनिक घायल हुए। सभी सैनिकों को मामूली चोटें आने की खबर है।

भारत और चीन के सैनिकों के बीच ये झड़प 5,000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित उत्तर सिक्किम के नाकू ला सेक्टर में हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सैनिकों में झड़प के बीच मुक्के चले। इसके अलावा पथराव की भी खबर है।

बता दें कि भारत और चीन एक-दूसरे के साथ 3,488 किलोमीटर की सीमा साधा करते हैं। इस सीमा में कई जगहों पर दोनों देशों के बीच विवाद है और अक्सर झड़पें होती रहती हैं। दोनों देशों के बीच अक्सर इस सीमा विवाद को सुलझाने के प्रयास चलते रहते हैं।

मुख्य विवाद लद्दाख के अक्साई चिन इलाके और अरुणाचल प्रदेश को लेकर है। चीन अरुणाचल प्रदेश को अपना इलाका बताता है।

दोनों देशों के बीच आखिरी बार ऐसी झड़प 2017 में हुई थी।

तब चीनी सैनिकों ने लद्दाख में पेंगोंग झील के पास गश्त कर रहे भारतीय सैनिकों को रोकने की कोशिश की थी जिससे दोनों तरफ के जवानों में टकराव पैदा हो गया था। जवानों में जमकर धक्का-मुक्की हुई थी और लात-घूंसे चले थे।

2017 में ही बहुचर्चित डोकलाम विवाद हुआ था। डोकलाम भारत, चीन और भूटान की सीमा पर स्थित इलाका है।

यहां अगस्त 2017 में चीन ने अवैध निर्माण कार्य शुरु किए थे। उसका मकसद भूटान के अंदर तक सड़क बनाने का था, ताकि भारत पर लगातार नजर रखी जा सके।

डोकलाम विवाद के बाद 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच पहले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए दोनों देशों की सेनाओं के लिए गाइडलाइंस तैयार की गई थीं।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...