ख़बरें

‘टूर ऑफ ड्यूटी’ से तीन साल के लिए आप बन सकते है सेना का हिस्सा, सेना कर रही है विचार

तर्कसंगत

Image Credits: ADGPI/Facebook

May 15, 2020

SHARES

भारतीय सेना में जॉब करने का अब आप का भी सपना आसानी से पूरा हो सकता है. वास्तव में भारतीय सेना नौकरी पर लोगों को रखने के तरीके बदल रही है. इंडियन आर्मी ने इस प्रस्ताव पर विचार करना शुरू किया है कि इसके रैंक को ज्वाइन करने के लिए आम लोगों को भी आवेदन करने का मौका दिया जाए. इसका मतलब यह है कि आम लोग भी 3 साल तक सेना में किसी अधिकारी के रैंक पर काम कर सकेंगे. इस प्रस्ताव का नाम टूर ऑफ़ ड्यूटी रखा गया है. इंडियन आर्मी के सूत्रों ने कहा, “इस तरह के एक प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है. इस प्रस्ताव में आम लोगों को 3 साल तक सेना में जॉब कर देश की सेवा करने का मौका मिल सकेगा. इसे टूर ऑफ ड्यूटी का नाम दिया गया है.”

 

पिछले काफी वक्त से अफसर की कमी से जूझ रही भारतीय सेना ने देश के आम लोगों को जॉब देने की योजना बनाई है. भारतीय सेना अब देश की प्रतिभाओं को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए 3 साल के टूर ऑफ ड्यूटी नाम का एक प्रोग्राम लॉन्च करने की तैयारी कर रही है. इस प्रस्ताव के बारे में पूछे जाने पर इंडियन आर्मी के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की है.

यह प्रस्ताव वास्तव में भारतीय सेना के उस प्रयास का हिस्सा है जिसमें देश के बेस्ट टैलेंट को अपने लिए काम करने का मौका देने का अभियान शुरू किया गया है. इस समय इंडियन आर्मी में सबसे कम सेवा के लिए लोग शॉर्ट सर्विस कमीशन का चुनाव कर सकते हैं. शार्ट सर्विस कमीशन के माध्यम से जो लोग इंडियन आर्मी में जॉब ज्वाइन करते हैं उन्हें भी कम से कम 10 साल तक सेना में सेवा देनी होती है.

इस बारे में सूत्रों ने कहा कि शार्ट सर्विस कमीशन की भी समीक्षा की जा रही है. सेना के उच्चाधिकारी शॉर्ट सर्विस कमीशन को युवाओं के लिए और अधिक आकर्षक बनाने के बारे में विचार कर रहे हैं. पिछले कई सालों से भारतीय सेना में अधिकारियों की कमी लगातार बनी हुई है और अब इंडियन आर्मी चाहती है कि उसके अधिकारियों के पद पर जल्द से जल्द लोगों की नियुक्ति हो. सबसे पहले शॉर्ट सर्विस कमीशन 5 साल की निरंतर सेवा शुरू की गई थी लेकिन बाद में इसे अधिक आकर्षक बनाने के लिए 10 साल तक विस्तार दे दिया गया.

सेना के सूत्रों ने बताया कि इस प्रस्ताव पर वरिष्ठ अधिकारियों के बीच मंथन चल रहा है. अगर इसे मंजूरी मिलती है तो टेस्ट प्रोजेक्ट के तौर पर 100 अफसर और 1,000 जवानों की भर्ती की जाएगी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...