सचेत

वीडियो देखिये, कोरोना के डर से शव को कचरे की गाड़ी में डालकर ले जाया गया

तर्कसंगत

Image Credits: Alok Pandey/Twitter/

June 12, 2020

SHARES

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर से एक शर्मसार करने देने वाला वीडियो सामने आया है। इसमें कुछ लोगों को एक व्यक्ति के शव को कचरे की गाड़ी में डालकर पुलिस स्टेशन ले जाते हुए देखा जा सकता है।

मृत शख्स की अचानक से मौत हो गई थी और एंबुलेंस के स्टाफ ने उसके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जताते हुए उसके शव को छूने से इनकार कर दिया था।

 क्या है मामला ?

घटना बलरामपुर जिले के उतरौला कोतवाली क्षेत्र की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोहम्मद अनवर (42 साल) किसी काम से आए थे। तभी तहसील के गेट पर वो अचानक गिर गए। इसके बाद वहां मौजूद कुछ लोगों इसकी खबर पुलिस और एम्बुलेंस को दी। जानकारी मिलने पर वहां एम्बुलेंस भी आई और पुलिस भी आई। पुलिस ने शव को एंबुलेंस या किसी अन्य गाड़ी से पोस्टमॉर्टम हाउस तक भेजने की बजाए नगरपालिका परिषद की कूड़ागाड़ी बुलवाकर सफाई कर्मियों से शव को भेज दिया।

एक अन्य वीडियो में मौके पर एंबुलेंस को भी देखा जा सकता है। ‘NDTV‘ की रिपोर्ट के अनुसार, एंबुलेंस के कर्मचारियों ने अनवर के कोरोना वायरस संक्रमित होने के डर से शव को ले जाने से इनकार कर दिया था।

इस  मामले पर बलरामपुर पुलिस के एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया, पुलिस और नगरपालिका अधिकारियों को जब सूचना मिली, तो टीम भेजी गई. ये भी जानकारी में आया है कि संभवत: मेडिकल टीम भी भेजी गई थी. लेकिन कोरोना की वजह से संशय बना हुआ है, उसकी वजह से इन लोगों ने लापरवाही की. संवेदनहीन हरकत की है. मृतक की बॉडी को कूड़ा ढोने वाली गाड़ी में रखकर हटाया गया. ये बहुत ही गलत बात हुई है.

पुलिसकर्मी और नगर पालिका कर्मचारी निलंबित

मामले में एक सब इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबल को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया गया है। वहीं नगर पालिका के चारों कर्मचारियों को भी निलंबित कर दिया गया है। अभी तक अनवर के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि नहीं हुई है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...