सचेत

फैक्ट चेक: क्या प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने कभी गलवान घाटी में सैनिकों को सम्बोधित किया था?

तर्कसंगत

June 25, 2020

SHARES

15 जून को गालवान घाटी में भारतीय सेना और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद, सोशल मीडिया फर्जी खबरों से लबरेज है। पूर्व भारतीय प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी की ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर, सैनिकों को संबोधित करते हुए काफी वायरल हो और इसके साथ  दावा किया जा रहा है कि उन्होंने गैलवान घाटी में सैनिकों को संबोधित किया था।

इस फोटो को उत्तर प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया जिसके बाद ये पोस्ट 2000 बार रीट्वीट हुआ.

 

 

इसके बाद सोशल मीडिया पर इस पोस्ट की झड़ी से लग गयी कई नमी गिरामी हस्तियों ने इस पोस्ट को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से रीट्वीट किया।

 

 

 

दावा

इस पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों को सम्बोधित किय था.

 

सच्चाई

गूगल के रिवर्स इमेज सर्च से हमें ये जानकारी मिली कि ये तस्वीर जिस जगह की है वो गलवान से लगभग 200 किमी दूर स्थित लेह की है.

हम यहाँ उस आर्टिकल की फोटो भी शेयर कर रहे हैं जिसमें ये कहा गया है कि ये तस्वीर लेह की है.

 

साथ ही साथ एक ट्वीट में ये भी जानकारी मिली है कि ये PTI इमेज है जिसका क्रेडिट DPR Defence को दिया गया है.

 

 

हमें ये फोटो पीटीआई के आर्काइव में भी मिली है.

 

 

तो इन सारी चीज़ों से ये सिद्ध होता है कि प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की ये तस्वीर जो की 1971 की है उसे गलवान घाटी का बता कर जो दवा किया जा रहा है वो गलता है बल्कि ये लेह में भारतीय जवानो को सम्बोधित करते हुए उनकी तस्वीर है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...