ख़बरें

सीबीएसई और फेसबुक ने मिलाया हाथ, टीचर्स और छात्रों को देगा फ्री ट्रेनिंग

तर्कसंगत

Image Credits: Deshtv/Google Play

July 6, 2020

SHARES

कोरोना वायरस और लॉकडाउन का असर स्कूली बच्चों की पढ़ाई पर भी पड़ा है। हालात का सामना करने लिए स्कूल नए तौर-तरीके अपना रहे हैं। सीबीएसई भी यही कर रहा है। सीबीएसई से खबर है कि डिजिटल सुरक्षा और ऑनलाइन हेल्थ तथा ऑगमेंटिड रियलिटी पर कोर्स शुरू किया जा रहा है। इसके लिए बोर्ड ने फेसबुक से हाथ मिलाया है। सीबीएसई की ओर से दी गई आधिकारिक जानकारी के अनुसार, इस तरह के कोर्स और ट्रेनिंग से छात्रों और शिक्षकों को ऑनलाइन संभावित मुश्किलों से बचाया जा सकता है। ट्रेनिंग वर्चुअल मोड में दी जाएगी।

खुद केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने ये जानकारी दी है। निशंक ने ट्वीट के जरिए सीबीएसई के इस कदम के बारे में बताया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि ‘टीचर्स के लिए ऑग्यूमेंटेड रियलिटी और स्टूडेंट्स के लिए डिजिटल सेफ्टी ट्रेनिंग प्रोग्राम्स की शुरुआत करने के लिए मैं सीबीएसई और फेसबुक की सराहना करता हूं। साथ ही टीचर्स और स्टूडेंट्स को इन प्रोग्राम्स में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित करता हूं।’

 

 

रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

रजिस्ट्रेशन 6 जुलाई से लेकर 20 जुलाई 2020 तक कर सकते हैं। बोर्ड ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया है। उसमें कहा गया है कि स्कूलों को इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए अपने टीचर्स व स्टूडेंट्स को नॉमिनेट करना होगा। इसकी डीटेल आप आगे दिए गए नोटिस में देख सकते हैं।

 

ट्रेनिंग के विषय

ऑग्यूमेंटेड रियलिटी – इस विषय की ट्रेनिंग सिर्फ टीचर्स के लिए होगी। पहले फेज में देशभर से 10 हजार टीचर्स को इसमें शामिल होने का मौका मिलेगा। इसकी ट्रेनिंग 10 अगस्त 2020 से शुरू होगी। डिजिटल सेफ्टी, ऑनलाइन वेल बीईंग व इंस्टाग्राम टूलकिट – इन विषयों की ट्रेनिंग स्टूडेंट्स को दी जाएगी। पहले फेज में 10 हजार स्टूडेंट्स को मौका मिलेगा। यह ट्रेनिंग 6 अगस्त 2020 से शुरू होगी।

ऑनलाइन क्लासेस और ई लर्निंग से छात्र में इंटरनेट का इस्तेमाल और ज्यादा बढ़ गया है। कोरोना वायरस के इस दौर में ऑनलाइन छेड़छाड़, फेक न्यूज, भ्रामक सूचना और इंटरनेट के इस्तेमाल की लत में भी बढ़ोत्तरी हुई है। इसी को देखते हुए सीबीएसई ने फेसबुक के साथ करार किया है जिसमें फेसबुक टीचर और छात्रों को फ्री में डिजिटल सेफ्टी की ट्रेनिंग देगा।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...