ख़बरें

वीडियो देखिये,डॉक्टर ने की नर्स से छेड़छाड़, साथी नर्सों ने जमकर की पिटाई

तर्कसंगत

Image Credits: Twitter

July 16, 2020

SHARES

पंचकूला के सेक्टर-6 स्थित सामान्य अस्पताल में एक नर्स से छेड़छाड़ करने पर डॉक्टर की जमकर धुनाई होने की घटना से पूरे अस्पताल प्रबंधन में हड़कंप मचा हुआ है। सहकर्मी नर्स के साथ हुई छेड़छाड़ का विरोध करते हुए आज नर्सों ने डॉक्टर की अस्पताल में ही जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद अस्पताल की नर्सों ने लामबंद होकर आरोपी डॉक्टर को अस्पताल से बाहर निकालने और उसके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर जमकर नारेबाजी की। वहीं मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। लेकिन डॉक्टर के खिलाफ शुरू की गई विभागीय जांच के कारण फिलहाल उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

 

 

क्या है मामला?

जानकारी के अनुसार रात को कोरोना के मरीजों के लिए बनाए आइसोलेशन वार्ड में स्टाफ नर्स की ड्यूटी थी। वहां मनोरोग डॉक्टर राउंड पर आए थे। इसी दौरान उन्होंने नर्स से छेड़छाड़ शुरू कर दी। आरोप है कि जब डॉक्टर छेड़छाड़ कर रहा था, उस वार्ड में कोई भी मरीज नहीं था। स्टाफ नर्स ने डॉक्टर पर शराब के नशे में धुत होने का आरोप लगाया है।

छेड़छाड़ के दौरान स्टाफ नर्स ने इसकी सूचना अस्पताल प्रबंधन को दी तो मौके पर पीएमओ और आरएमओ पहुंचे। उनके सामने ही डॉक्टर आइसोलेशन वार्ड से लिफ्ट के जरिए फरार हो गया। अधिकारियों ने डॉक्टर को रोका, लेकिन डॉक्टर ने टिफिन को कार में रखने का बहाना लगाया और वहां से भाग गया।

मंगलवार को अस्पताल की ओर डा़ संगीता के नेतृत्व में गठित कमेटी ने मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंप दी है। दोपहर बाद आरोपी डाक्टर अस्पताल परिसर में पांचवीं मंजिल के एक कमरे में मौजूद था। अस्पताल की नर्सें व अन्य कुछ कर्मचारी भी वहां पहुंचे गये और डाक्टर की धुनाई कर। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस बमुश्किल से डाक्टर को छुड़ाकर लाई और जीप में बैठाकर ले गई। इसी दौरान पुलिस कर्मचारियों के साथ भी नर्सों की कहासुनी हुई। इंस्पेक्टर ललित ने नर्सोँ से कहा है कि डाक्टर को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन बाद में जब डाक्टर की गिरफ्तारी बारे इंस्पेक्टर से पूछा गया तो बोले-महिला थाना की एसएचओ से पूछें। जब महिला थाना की एसएचओ से पूछा तो बोलीं-मैं मधुबन हूं। कुछ नहीं बता सकती। डाक्टर की गिरफ्तारी बारे कोई भी सूचना देने को तैयार नहीं है।

पंचकूला नर्सिंग एसोसिएशन की अध्यक्ष कमल ने जानकारी देते हुए बताया कि नर्सिंग एसोसिएशन आरोपी डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रही है।

फिलहाल आरोपी डॉक्टर फरार है इसलिए उसकी तरफ से कोई स्पष्टीकरण नहीं मिल पाया है। जांच अधिकारी ललित कुमार ने बताया कि इस घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

हरियाणा महिला आयोग ने भी मामले को गंभीरता से लिया है और इसके लिए महिला आयोग ने अस्पताल प्रशासन ने सफाई मांगी है। बहरहाल पंचकूला अस्पताल हरियाणा का सबसे बेहतरीन अस्पताल माना जाता है मगर इस तरह के मामले संस्थाओं को बदनाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ते. इसलिए जरूरी है कि मामले की निष्पक्ष जांच करके सख्त कार्रवाई की जाए।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...