ख़बरें

तिरुपति बालाजी मंदिर स्टाफ में 140 कोरोना पॉजिटिव, मगर मंदिर बंद नहीं होगा

तर्कसंगत

Image Credits: Deccan Herald

July 17, 2020

SHARES

आंध्र प्रदेश के तिरुपति बालाजी मंदिर में संक्रमण से बचाव के तमाम इंतजाम किए जाने के बाद भी कोरोना तेजी से फैल रहा है। अभी तक ट्रस्ट के 140 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। इनमें 14 अर्चक (पुजारी) शामिल हैं। केस बढ़ने के बाद अब मंदिर में कुछ दिन के लिए दर्शन बंद करने के लिए कर्मचारी संगठन और राजनीतिक दल दबाव बना रहे हैं। हालांकि, ट्रस्ट फिलहाल ऐसा करने के लिए तैयार नहीं है।

लॉकडाउन के बाद 11 जून को खुला था मंदिर

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण बंद किए गए आंध्र प्रदेश के तिरुपति बालाजी मंदिर को 8 जून को शुरू हुए अनलॉक-1 के तहत 11 जून को आम लोगों के लिए खोल दिया गया था। इसके दो दिन बाद से ही मंदिर से जुड़े कर्मचारी संक्रमित पाए जाने लगे और अब तक 140 से अधिक कर्मचारियों को संक्रमित पाया जा चुका है। संक्रमितों में 14 पुजारी शामिल हैं, वहीं बाकी आम कर्मचारी हैं।

द हिन्दू के अनुसार मंदिर के मानद मुख्य पुजारी रमन्ना दीक्षितुलु ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ’50 पुजारियों में 15 कोरोना संक्रमित पुजारियों को क्वारंटाइन किया गया है। 25 के नतीजे आना बाकी है। मंदिर बोर्ड ने दर्शन रोकने से इनकार कर दिया है अगर ये जारी रहता है तो विनाशकारी होगा।’

बंद नहीं होगा मंदिर

रिपोर्ट्स के अनुसार अब पूरे विवाद पर प्रतिक्रिया देते हुए मंदिर चलाने वाले तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के चेयरमैन वाईवी सुब्बा रेड्डी ने कहा कि मंदिर में दर्शन बंद करने की कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने का कोई सबूत नहीं है।

रेड्डी ने कहा कि संक्रमितों में ज्यादातर मंदिर के साथ काम कर रहे पुलिसकर्मी हैं। उन्होंने बताया कि 70 संक्रमित ठीक हो चुके हैं और केवल एक की स्थिति गंभीर है।

कोरोना से बचाव के लिए लगा है स्प्रे सिस्टम

तिरुपति बालाजी भारत का शायद इकलौता मंदिर है जहां कोरोना संक्रमण से बचने के लिए ट्राय ओजोन स्प्रे सिस्टम लगाया गया है। इसमें मंदिर में आने वाले लोगों पर पूरे समय डिसइंफेक्टेंट का छिड़काव होता रहता है। जहां से लोग मंदिर में प्रवेश करते हैं और कतार में लगते हैं वहां फव्वारों के जरिए लगातार सेनेटाइजेशन होता रहता है। इसके बावजूद मंदिर में कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या लगातार बढ़ रही है।

11 जून को दर्शन खुलने के बाद तिरुपति बालाजी मंदिर में शुरूआत में रोजाना करीब 6,000 श्रद्धालु आते थे और ये संख्या धीरे-धीरे बढ़कर 15,000 तक पहुंच गई।

अब मंदिर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले सामने आने के बाद श्रद्धालुओं की संख्या में कमी आई है और रोजाना 8,000 से 9,000 के बीच श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आ रहे हैं।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...