ख़बरें

अब पब्लिक सेक्टर बैंक कर्मचारियों की सैलरी में होगा 15% का इज़ाफ़ा, इंसेंटिव भी मिलेगा

तर्कसंगत

Image Credits: Business Line

July 23, 2020

SHARES

कोरोना संकट के बीच सार्वजनिक बैंकों के कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है. सार्वजनिक बैंकों के कर्मचारियों के वेतन में 15 फीसदी की बढ़त करने का निर्णय लिया गया है. उनको प्रदर्शन आधारित इन्सेंटिव (PLI) भी दिया जाएगा. यह बढ़ोतरी 1 नवंबर 2017 से ही लागू होगी. 

मनी कंट्रोल की रिपोर्ट के अनुसार नवंबर 2017 से बढ़ोतरी होने का मतलब है कि बैंक कर्मचारियों को एरियर के रूप में भी मोटी रकम मिलेगी. सार्वजनिक बैंकों के वेतन में बढ़ोतरी करीब तीन साल से लंबित थी. बैंक यूनियनों और इंडियन बैंक एसोसिएशन (IBA) के बीच इस मामले में बुधवार को 11वें दौर की वार्ता समाप्त हुई और एक समझौता हो गया. ब्लूमबर्ग कि रिर्पोट के मुताबिक 31 मार्च, 2017 तक के हिसाब से कर्मचारियों के वेतन में 15 फीसदी की बढ़ोतरी की जाएगी. इससे बैंकों को करीब 7,988 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च पड़ेगा.

इससे पहले वर्ष 2012 में IBA ने कर्मचारियों की 15 फीसदी सैलरी बढ़ाई थी. अब (2017 से 2022 तक पांच साल की अवधि के लिए) बैंक यूनियनों ने मुख्‍य तौर पर 20 फीसदी इंक्रीमेंट की मांग उठाई थी, जबकि IBA ने अपनी तरफ से शुरुआत में सवा बारह फीसदी 12.25 इजाफे की पेशकश रखी थी.

करीब दो साल से बैंकों के प्रबंधन और कर्मचारी यूनियन के बीच इसे लेकर बातचीत चल रही थी. यूनियन ने अपनी मांगें न माने जाने की स्थिति में हड़ताल करने की चेतावनी दी थी. दोनों पक्ष इस बात पर राजी हुए कि अब सरकारी बैंकों में भी प्रदर्शन आधारित इन्सेंटिव (PLI) की शुरुआत की जाए. यह अलग-अलग बैंकों के प्रॉफिट के आधार पर होगा. 

अभी निजी और विदेशी बैंक इस तरह के प्रोत्साहन देते हैं हालांकि उनके यहां यह वैकल्पिक होता है. लेकिन सरकारी बैंकों में सभी कर्मचारियों को पीएलआई सालाना वेतन के अलावा दिया जाएगा. 

बिज़नेस लाइन ने कहा है समझौते के मुताबिक बैंक कर्मचारियों को अब हर साल पांच दिन का प्रिवलेज लीव के बदले इनकैशमेंट यानी नकद रकम मिलेगी. 55 साल के ऊपर के कर्मचारियों के मामले में यह सात दिन का होगा. साथ ही ये भी तय किया गया है कि नेशनल पेंशन फंड में बैंक अपना योगदान बढ़ाकर वेतन और डीए का 14 फीसदी करेंगे जो कि अभी 10 फीसदी है. हालांकि इस मामले में अभी सरकार से मंजूरी लेनी होगी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...