ख़बरें

बच्चे की किडनैपिंग की कोशिश का वीडियो कैमरे में क़ैद, चाचा ने ही रची थी साजिश

तर्कसंगत

Image Credits: Twitter/SaurabhTrivedi/MukeshsinghSengar

July 23, 2020

SHARES

पूर्वी दिल्ली के शकरपुर क्षेत्र में मंगलवार को दिनदहाड़े एक बच्ची के अपहरण की कोशिश करने का मामला सामने आया है। अपहरणकर्ता अपने मंसूबे में सफल हो जाते मगर माँ ने दिलेरी दिखाते हुए बदमाशों से डट कर मुकाबला किया। अपनी 4 वर्षीय लड़की को बचाने के बाद, महिला ने बदमाशों को भी पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वे भागने में सफल रहे। यह पूरी घटना इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

इस मामले में बच्ची के चाचा और उसके एक साथी को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि सीसीटीवी में दिख रहे दो किडनैपरों की तलाश जारी है। अपहरण की कोशिश की यह घटना 21 जुलाई को शाम करीब 4:00 बजे की है।

 

वारदात के सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि एक काले रंग की पल्सर बाइक में सवार दो नकाबपोश और हेलमेट पहने दो लड़के एक घर के बाहर रुकते हैं। पीछे बैठा एक शख्स लाल रंग का बैग निकालकर उसको खोलता है, फिर घर का दरवाजा खटखटाकर पानी मांगता है। एक महिला पानी लेकर आती है। वह पानी बाहर खड़े शख्स की बोतल में डाल देती है. जैसे ही महिला अंदर जाती है, बाहर खड़े लड़के महिला की चार साल की बेटी को घर से खींच लेते हैं। बच्ची रोने लगती है और इसी बीच उसकी मां दिलेरी दिखाते हुए झपटकर अपनी बेटी को पकड़ लेती है।

इस छीनाझपटी में किडनैपर बाइक से नीचे गिर जाते हैं। एक किडनैपर आगे की तरफ भागता है, जबकि दूसरा बाइक उठाने की कोशिश करता है। इसी बीच महिला अपनी बेटी को न सिर्फ दोनों किडनैपर के चंगुल से बचा लेती है बल्कि बाइक का पहिया भी पकड़ लेती है जिससे कुछ देर तक एक किडनैपर बाइक को आगे नहीं ले जा पाता है। महिला शोर मचाती है और फिर पड़ोसी किडनैपरों का पीछा करते हैं।

 

 

वहीं दूसरे वीडियो में देखा जा सकता है कि बदमाश जब बाइक से भाग रहे थे एक शख्स अपनी स्कूटी बीच में लगा देता हैं। जिससे रास्ता बंद हो जाता है। जब अपहरणकर्ता वहाँ से गुजरता है तो वो आदमी उसे धक्का दे देता है। जिसके चलते वह गिर जाता है। जिसके बाद अपहरणकर्ता अपनी जान बचाते हुए बाइक वहीं छोड़ कर फरार हो जाता है। जिस आदमी ने अपनी स्कूटी को सड़क के बीच में रखते हुए बदमाशों को रोकने की कोशिश की थी, वह कार्य पुलिस के लिए काफ़ी मददगार साबित हुआ। क्योंकि पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए बाइक के पंजीकरण नंबर का इस्तेमाल किया।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार इसके बाद दिल्ली पुलिस को इस पूरी वारदात की सूचना दी गई। पुलिस ने मौके से एक काले रंग की पल्सर बाइक, एक काले बैग से एक देशी कट्टा और चार कारतूस बरामद किए। जब बाइक की नम्बर प्लेट फर्जी पाई गई, पूर्वी दिल्ली के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक जांच की गई तो पता चला कि यह बाइक धीरज नाम के शख्स की है। धीरज को काफी मशक्कत के बाद जगतपुरी से गिरफ्तार किया गया।

धीरज ने बताया कि बच्ची की किडनैपिंग की पूरी प्लानिंग बच्ची के सगे चाचा उपेंद्र उर्फ बिट्टू ने रची थी और कहा था कि काम पूरा होने के बाद उसे एक लाख रुपये दिए जाएंगे। इसके बाद पुलिस ने उपेंद्र को भी गिरफ्तार कर लिया। उपेंद्र ने बताया कि वह काफी तंगी में जी रहा रहा था जबकि उसका भाई कपड़े का व्यापारी है। उसके पास ठीकठाक पैसा है। इसीलिए उसने सोचा कि भाई की बेटी को अगवाकर 30-35 लाख रुपये की फिरौती मांगी जाए। उपेंद्र ने बताया कि बच्ची की किडनैपिंग करने के लिए उसने दो लोग और हायर किए थे जो सीसीटीवी में दिख रहे हैं। पुलिस सीसीटीवी में दिख रहे दोनों लोगों की तलाश कर रही है।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...