ख़बरें

दिल्ली कोविड केयर सेंटर के वाशरूम में 14 साल की मरीज़ का यौन उत्पीड़न

तर्कसंगत

Image Credits: Amar Ujala/Asianet

July 24, 2020

SHARES

दक्षिण दिल्ली के छतरपुर में कोविड केयर सेंटर में इलाज करवा रही 14 साल की मरीज के साथ वॉशरूम में कोरोना पेशेंट द्वारा याैन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। जब लड़की का याैन उत्पीड़न हो रहा था तो उसका साथी लड़की की वीडियो बना रहा था। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह घटना 15 जुलाई की है।

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार पुलिस ने बताया कि लड़की और आरोपी दिल्ली के रहने वाले हैं। केंद्र के एक अधिकारी ने कहा कि लड़की ने अपने एक रिश्तेदार को अपनी आपबीती सुनाई, जिसका इलाज भी केयर सेंटर में चल रहा था। इस मामले की सूचना आईटीबीपी के एक अधिकारी को दी गई, जिसने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया।

दक्षिण जिला के एडिशनल डीसीपी परविंदर सिह ने कहा, ‘हमने पॉक्सो एक्ट और आईपीसी की धारा 376 के तहत दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है लेकिन वह कोरोना से ठीक होने तक संस्थागत देखरेख में ही रहेगा. हम मामले की जांच कर रहे हैं।’

पीड़िता अपने परिवार के एक अन्य सदस्य के साथ इस महीने की शुरुआत में यहां भर्ती हुई थी। आरोपी भी लगभग उसी दिन भर्ती हुए थे। जिस शख्स पर लड़की का यौन उत्पीड़न करने का आरोप है, वह भी अपने परिवार के सदस्य के साथ यहां भर्ती हुआ था।

इस घटना के बाद पीड़िता ने सेंटर में अपने परिवार के सदस्य को इसकी जानकारी दी, जिसने आईटीबीपी डॉक्टरों को इसकी सूचना दी। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया।

कोविड केयर सेंटर के एक स्टाफ सदस्य ने बताया, ‘लड़की देर रात शौचालय गई थी। हमें संदेह है कि आरोपी इस घटना को अंजाम देने के लिए ही वहां गया। यहां पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग-अलग शौचालय हैं। हम मामले की छानबीन कर रहे हैं। यहां सेंटर में कई महिलाएं हैं, जिनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है। महिलाओं के लिए सेंटर में अलग से यूनिट है। फिलहाल पीड़िता की काउंसिलिंग की जा रही है और वह सेंटर में अपने परिवार के सदस्य के साथ है।’

वहीं, दोनों आरोपियों को एम्स ले जाया गया है लेकिन पुलिस सूत्रों का कहना है कि आरोपियों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही इन्हें जेल भेजा जाएगा।

रिपोर्ट के अनुसार, इस कोविड सेंटर की जिम्मेदारी आईटीबीपी के पास है, जिसने अपने डॉक्टर भी तैनात किए हैं। यह पूछ जाने पर कि क्या जिम्मेदारी तय करने के लिए कोई जांच की लाएगी, तब आईटीबीपी के एक प्रवक्ता ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

एक वरिष्ठ जिला प्रशासन अधिकारी ने कहा, ‘हमने सभी के लिए बंदोबस्त किए हैं। सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। आईटीबीपी के जवानों पर यहां की सुरक्षा का जिम्मा है। एसएचओ को शिकायत की गई और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अपनी रिपोर्ट सौंपेगी और उसके बाद न्यायिक कार्रवाई शुरू होगी।’

उधर, पंडित दीनदयाल संयुक्त चिकित्सालय के एक हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ने कोरोना वायरस से संक्रमित एक युवती के साथ अश्लील हरकत कर दी। युवती की शिकायत के बाद डॉक्टर को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। 25 वर्षीय युवती गाजियाबाद में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करती है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...