सचेत

AIIMS निदेशक ने कोरोना को लेकर दिल्ली, मुंबई और अहमदाबाद के लिए राहत वाली बात कही है

तर्कसंगत

Image Credits: Aaj Tak

July 24, 2020

SHARES

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का कहना है कि अलग-अलग शहरों में अलग-अलग वक्त पर कोरोना का पीक आएगा। उन्होंने ये भी कहा है कि दिल्ली, मुंबई और अहमदाबाद में कोरोना का पीक आ चुका है और अब यहां नए केस का ग्राफ नीचे आ रहा है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि इसके बावजूद हमें अभी सावधान रहने की जरूरत है।

न्यूज 18‘ के साथ खास इंटरव्यू में डॉ गुलेरिया ने कहा, “देश के अलग-अलग हिस्से अलग-अलग समय पर पीक (चरम) करेंगे। दिल्ली एक ऐसा राज्य हैं जहां कर्व फ्लैट हो रहा है। मुंबई, अहमदाबाद और दक्षिण के कुछ हिस्सों में भी कमी देखने को मिल रही है। वे पीक पर पहुंच गए हैं और मामलों में कमी का ट्रेंड देखा जा रहा है। हालांकि अन्य इलाकों में मामले बढ़ रहे हैं। बिहार और असम में हमने ऐसा देखा है।”

हाल ही में आए दिल्ली के सिरोलॉजिकल सर्वे पर डॉ गुलेरिया ने कहा, “दिल्ली में बड़ी संख्या में लोग बिना टेस्ट और बिना इलाज के ठीक हो गए। इसका मतलब हमारी मृत्यु दर जितना हम सोच रहे हैं, उससे भी कम है। ये अच्छी खबर है। बुरी खबर ये है कि जो लोग संक्रमित हैं और उन्हें इसके बारे में नहीं पता है, वे इसे फैला रहे हैं… दिल्ली में 77 प्रतिशत लोगों अभी भी संक्रमित हो सकते हैं।”

वैक्सीन पर डॉ गुलेरिया ने कहा कि हमें ऐसी वैक्सीन की जरूरत है जो कम से कम 70-80 प्रतिशत प्रभावी हो और जहां इम्युनिटी सालों नहीं तो महीनों रहे। उन्होंने कहा कि मौजूदा आंकड़ों के अनुसार, मरीजों को तीन महीने की इम्युनिटी मिलती है।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन आने पर सबसे पहले बुजुर्गों, पहले से बीमार और जिन लोगों को अधिक खतरा है, उन्हें ये वैक्सीन दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन का बड़े पैमाने पर निर्माण चुनौती होगी।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...