ख़बरें

वीडियो देखिये, आगरा में छोटी जाति का होने के कारण अंतिम संस्कार नहीं होने दिया, चिता से शव उठवाया

तर्कसंगत

Image Credits: Twitter/Kamal Khan

July 28, 2020

SHARES

उत्तर प्रदेश के आगरा की किरावली तहसील के रायसभा गांव से जातीय भेदभाव का मामला सामने आया है. दलित महिला का शव ऊंची जाति के लोगों ने इसलिए उठवा दिया, क्योंकि परंपरा है कि वहां पर दलित लोग अंतिम संस्कार नहीं कर सकते.

घटना 21 जुलाई की आगरा के अछनेरा थाने के रायभा गांव की है. यहां पर एक दलित महिला की बीमारी से मौत हो गई थी. उसके अंतिम संस्कार के दौरान विवाद हो गया. महिला के परिवारवालों का कहना है शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव के श्मशान में ले जाया गया. वहां सारी तैयारियां हो चुकी थीं. शव को चिता पर भी रख दिया गया था. इसी बीच गांव में रहने वाले दूसरी जाति के लोग मौके पर पहुंच गए. उन्होंने अंतिम संस्कार को रुकवा दिया.

रिपोर्टर ने महिला का ये वीडियो ट्विटर पर डाला था. वीडियो में बताया गया गया कि ये महिला दलित जाति की है, इसलिए इसे ऊंची जातिवालों ने चिता से उठवा दिया, जिसके बाद इसे दूसरी जगह दाह संस्कार करना पड़ा. महिला के परिवारवालों ने इसे अपनी किस्मत समझते हुए मामले की रिपोर्ट तक नहीं लिखवाई.

 

 

हिंदुस्तान अख़बार की रिपोर्ट ये भी बताती है कि महिला के परिवार वाले गांव के प्रधान के पास अपनी बात लेकर पहुंचे तो उन्होंने परंपरा का हवाला दिया और कह दिया कि वे इसी का पालन करें. हालांकि उन्होंने इस बात का आश्वासन जरूर दिया कि आगे नट समाज के लिए अलग से श्मशान के लिए जगह दी जाएगी.

महिला के ससुर ब्रजपाल का आरोप है कि गांव के ठाकुरों ने वहां पर अंतिम संस्कार नहीं होने दिया. उन्होंने शव को चिता से हटवा दिया. उन्होंने कहा कि यह उनकी जमीन है, यहां पर दाह संस्कार नहीं कर सकते. ऐसे में हमने विनती की लेकिन वे अड़ गए. बाद में पुलिस आई. पुलिस ने भी अंतिम संस्कार करने देने को कहा. लेकिन वे लोग नहीं माने. गांव में विवाद न हो इसलिए फिर दूसरी जगह अंतिम संस्कार किया गया.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...