ख़बरें

वीडियो देखिये, कोरोना संक्रमित मरीज ने मौत से पहले बनाया वीडियो, अस्पताल बदलने की गुज़ारिश भी की

तर्कसंगत

Image Credits: NarendraRajpal/Twitter

July 29, 2020

SHARES

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इस खतरनाक वायरस के अलावा कई मौतें अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ चुकी हैं। ऐसा ही एक अस्पताल की अव्यवस्था का मामला उत्तर प्रदेश के झांसी का सामने आया है। झांसी के मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 मरीज ने अस्पताल की बदहाली का वीडियो अपने मोबाइल में कैद किया और उसके कुछ ही घंटों बाद उसकी मौत हो गई।

झांसी के सरकारी अस्पताल में एक कोरोना संक्रमित मरीज का उपचार चल रहा था। सोमवार को उसकी मौत हो गई।

मौत से पहले मरीज द्वारा बनाया गया वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

52 सैकंड के इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कोरोना वार्ड में भर्ती मरीज को सांस लेने में तकलीफ हो रही है और उसका बनियान पूरी तरह से खून से लथपथ हो रहा है। उस पर ध्यान देने वाला कोई नहीं है।

वीडियो शूट करने के दौरान मरीज कह रहा है कि यहां व्यवस्थाएं नहीं है, मरीजों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। मरीज की मौत सोमवार को झांसी के मेडिकल कॉलेज में ही हुई। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तभी से वायरल हो रहा है।

वीडियो में मरीज ने एक संदेश भी दिया है। जिसमें वह कहता नजर आ रहा है, “पानी के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। मैं बहुत परेशान महसूस कर रहा हूं। मुझे दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करें। यहां कोई देखभाल नहीं है। कोई व्यवस्था नहीं है और पूरी लापरवाही है।”

इस दौरान वह कैमरे से पूरे वार्ड को भी शूट करता है। इसमें अन्य मरीज भी अस्पताल में बेड पर लेटे नजर आ रहे हैं।

झांसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीके निगम ने बताया कि वीडियो और मरीज की मौत के समय के बीच का अंतर अभी स्पष्ट नहीं हुआ है। मरीज की पत्नी और बेटी के भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। हालांकि, उनमें अभी कोरोना वायरस के लक्षण नजर नहीं आ रहे है, लेकिन फिर भी उन्हें झांसी के अन्य कोरोना अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उन्होंने अस्पताल की लापरवाही के आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

तर्कसंगत का तर्क

देश भर के अस्पतालों से बदइंतज़ामी के ऐसे वीडियो आ रहे हैं जहाँ मरीज़ की देखभाल अच्छे से नहीं हो रही है, एक नागरिक के तौर पर हमें अपने प्राथमिकताओं को आगे रखना होगा कि हमें आने वाले समय में अपने भविष्य की पीढ़ियों के लिए कैसी स्वास्थ्य व्यवस्था चाहिए उसके लिए हमें अभी से तार्किक रूप से अपने नेताओं का चयन करना चाहिए जो हमारे इलाके में शिक्षा, स्वस्थ्य, आदि मूलभूत चीज़ों पर ध्यान दें न कि जनता को भटका कर अपना स्वार्थ सिद्धि करें।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...