ख़बरें

नोटबंदी : पौने पांच करोड़ रुपये मूल्य के पुराने नोट पुलिस ने किये ज़ब्त

तर्कसंगत

Image Credits: humsamvet

July 30, 2020

SHARES

गुजरात के गोधरा शहर में चार करोड़ 76 लाख रुपये मूल्य के नोट बरामद किए गए हैं, जिन्हें नोटबंदी के समय कानूनी तौर पर चलन से बाहर कर दिया गया था. पुलिस ने बुधवार को बताया कि इस संबंध में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है.

गुजरात के आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार गोधरा पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने मंगलवार की रात छापा मार कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है. एटीएस को इस बाबत गोपनीय सूचना प्राप्त हुई थी.

 

NDTV में छपी ख़बर के मुताबिक़, सबसे पहले मेड सर्किल के पास छापे में पुलिस ने फ़ारूख छोटा को हिरासत में लिया. फ़ारूख के पास से 1000 के नोट की पांच गड्डियां बरामद की गयीं.

फ़ारूख का इंटैरोगेशन किया गया. पूछताछ में अगले ठिकाने का पता चला. अगला ठिकाना निकला धनत्या प्लॉट. यहां पर इदरीस हयात और उसके बेटे ज़ुबैर हयात का घर है. पुलिस के पहुंचने के पहले इदरीस हयात निकल गया. छापेमारी हुई. कार के पीछे और मकान के भीतर से कई सारे पुराने नोट पकड़े गये. ज़ुबैर हयात को भी हिरासत में ले लिया गया.

वक्तव्य के अनुसार उससे पूछताछ के बाद एसओजी दल गोधरा के धंत्या प्लॉट क्षेत्र में पहुंचा और एक घर और कार में पुराने नोटों के कई बंडल बरामद किए. घर का मालिक इदरीस भागने में कामयाब रहा और उसके बेटे जुबेर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने एक हजार के 9,312 नोट और पांच सौ के 76,739 नोट बरामद किए, जिनका कुल मूल्य 4,76,81,500 रुपये है. पंचमहल की पुलिस अधीक्षक लीना पाटिल ने कहा, “इदरीस हयात पर पहले भी ऐसे मामले दर्ज हैं और वह दो साल से फरार है. गोधरा एसओजी आगे जांच करेगी कि आरोपी इन नोटों की जरिये क्या करना चाहते थे.”

पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने ये बात स्वीकार की है कि इन नोंटों को 25-35 फ़ीसद कमीशन पर बदलने की तैयारी थी. लेकिन बदलने का माध्यम कौन था, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...