ख़बरें

ऑर्डिनन्स फैक्टरियों के कर्मचारियों का 12 अक्टूबर से देशव्यापी हड़ताल पर जाने का ऐलान

तर्कसंगत

Image Credits: News18/National Herald

July 31, 2020

SHARES

हथियार और गोला-बारूद बनाने वाली फैक्टरियों के निगमीकरण के विरोध में देशभर  के करीब 80 हजार कर्मचारी 12 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हडताल पर जाने का ऐलान किया है.

ऑल इंडिया डिफेंस एंप्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एसएन पाठक जी ने मीडिया को बताया कि मंगलवार 28 जुलाई को सचिव रक्षा उत्पादन के आवाहन पर रक्षा विभाग की चारों फेडरेशनों AIDEF, INDWF, BPMS, CDRA की वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक आयोजित की गई. बैठक का विषय रिस्ट्रक्चरिंग ऑफ ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज था. सभी फेडरेशनों के पदाधिकारियों ने एक मत से ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों की रिस्ट्रक्चरिंग के नाम पर कॉरपोरेटाईजेशन किए जाने पर असहमति व्यक्त की.

इस बैठक में AIDEF की तरफ से एसएन पाठक अध्यक्ष, सी श्रीकुमार महासचिव, INDWF की तरफ से अशोक सिंह अध्यक्ष, आर श्रीनिवासन महासचिव, BPMS की तरफ से साधु सिंह उपाध्यक्ष, मुकेश सिंह महासचिव, CDRA की तरफ से बी बी मोहंती महासचिव, अजय संयुक्त सचिव मौजूदा रहे.

ये बैठक के बाद 29 जुलाई को तीनों फेडरेशनों और CDRA की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक हुई. जिसमें  रक्षा उत्पादन के सचिव के साथ हुई बैठक के विषय पर चर्चा हुई. आयुध निर्माणियों के निगमीकरण के विरोध में 4 अगस्त को स्ट्राइक नोटिस देने तथा 12 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया.

समर्थन में सभी 41 आयुध निर्माणियों में 05 अगस्त 2020 से 08 अगस्त 2020 तक क्रमवार भूख हडताल/लंच बहिष्कार कार्यक्रम निर्माणी के अंदर करेंगे. सरकार 18 अगस्त 2020 को प्राइवेट सेक्टर को कोल ब्लॉक आवंटन के लिये टेंडर ओपन करेगी, इसी दिन कोल सेक्टर की यूनियनें/फेडरेशनें कोल सेक्टर के निजीकरण के विरोध में एक दिन का स्ट्राइक करने का निर्णय लिया है.

आयुध निर्माणियों की यूनियनें भी इस दिन कोल सेक्टर के कर्मचारियों के समर्थन में धरना प्रदर्शन, ब्लैक बैज तथा सहुलियत के हिसाब से अन्य आंदोलनात्मक कार्यक्रम करेंगी.

ज्ञात हो पिछले वर्ष अगस्त की 30 दिन की हड़ताल शुरू होने के पश्चात चीफ लेबर कमिश्नर की मध्यस्थता तथा एच एल ओ सी के आश्वासन के पश्चात हड़ताल स्थगित की गई थी. तत्पश्चात एचएलओसी की बैठकें आयोजित की गई थी, परंतु एचएलओ सी की टर्म्स आफ रेफरेंस में मतभेद होने के कारण एलओसी की बैठकों का फेडरेशन द्वारा बहिष्कार किया गया था. वित्त मंत्री द्वारा ऑडनेंस फैक्ट्री के निगमीकरण की घोषणा के बाद भी फेडरेशन द्वारा एलओसी की बैठकों का बहिष्कार किया गया था. तत्पश्चात सचिव रक्षा उत्पादन द्वारा आनंद फैक्ट्रियों की रिस्ट्रक्चरिंग के विषय को लेकर यह वीडियो कांफ्रेंस आयोजित की गई थी.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...