ख़बरें

देश के इस राज्य ने पेट्रोल खरीदने की सीमा तय कर दी है

तर्कसंगत

Image Credits: ZeeBusiness/Wikipedia

August 12, 2020

SHARES

कोरोना महामारी के दौर में राज्य सरकार जहां अधिक राजस्व अर्जित करने के लिए पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स में बढ़ोत्तरी कर रही है, वहीं मिजोरम सरकार ने बहुत ही चौंकाने वाला निर्णय किया है। दरअसल, मिजोरम सरकार ने राज्य में पेट्रोल-डीजल भरवाने की सीमा निर्धारित कर दी है।

इसके बाद अब वाहन चालक पेट्रोल पंपों पर अपने वाहनों में मनमर्जी से ईंधर नहीं भरवा सकेंगे। उन्हें निर्धारित मात्रा में ही ईंधन मिलेगा।

अधिकारियों ने बताया कि तेल के भंडार में यह कमी इसलिए आई है कि तेल टैंकर या तो रास्ते में फंस गये हैं, या आइजोल बाईपास रोड पर हमांगखावथलीर और सेथवन इलाकों के बीच निरूद्ध क्षेत्र घोषित किये जाने के बाद धीमी गति से आ रहे हैं।

समचार एजेंसी PTI के अनुसार सरकार की ओर से जारी किए गए आदेश के तहत अब राज्य में स्कूटर चालक के लिए आधिकारिक आदेश के मुताबिक, स्कूटर के लिये तीन लीटर, अन्य दोपहिया वाहन के लिये पांच लीटर, हल्के मोटर वाहन के लिये 10 लीटर, पिकअप ट्रक, मिनी ट्रक, जिप्सी के लिये 20 लीटर और नगर बसों और मध्यम ट्रकों के लिये 100 लीटर तेल देने की इजाजत दी गई है।

वाहनों में पेट्रोल-डीजल भरवाने की सीमा निर्धारित करने के साथ सरकार ने कुछ वाहनों को इस बाध्यता से छूट भी दी है।

सरकार के अनुसार चावल और अन्य खाने पीने की चीज़ों के परिवहन में लगे वाहनों को टैंक फुल कराने की इजाजत दी गई है।

इसी तरह आवश्यक सेवा और सरकारी वाहनों में भी आवश्यकता के अनुसार ईंधन भरवाया जा सकेगा। पेट्रोल पंपों पर आदेशों का उल्लंघन किए जाने पर संचालक के कार्रवाई की जाएगी।

अधिकारियों ने ये भी बताया कि कोरोना वायरस महामारी के कारण कई जगहों में अभी भी लॉकडाउन लगा हुआ है। इसके कारण पेट्रोल-डीजल के टैंक समय पर राज्य में नहीं पहुंच पा रहे हैं। जिसकी वजह से राज्य में पेट्रोल-डीज़ल की भारी कमी आ गई है।

बिगड़ते हालातों को देखते हुए सरकार ने फ्यूल राशनिंग का फैसला लिया है। इस फैसले के बाद मिजोरम की राजधानी आइजोल में पेट्रोल पंप पर लंबी कतारें लग गई है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...