ख़बरें

पश्चिम बंगाल में नेता ने की संदिग्ध कोरोना मरीज की मदद, PPE किट पहनकर पहुंचाया अस्पताल

तर्कसंगत

Image Credits: Outlook India

August 14, 2020

SHARES

कोरोना महामारी में लोग संक्रमण के डर के कारण अपनों की अर्थी को हाथ लगाने से भी कतरा रहे हैं, मगर ऐसे ही समय में पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने संदिग्ध कोरोना मरीज की मदद कर सब को नर सेवा ही नारायण सेवा है का संदेश दिया है।

दरअसल, झारग्राम के शिजुआ गांव में जब संदिग्ध कोरोना मरीज की कोई मदद नहीं कर रहा था तो इस नेता ने PPE किट पहनकर बाइक से उसे अस्पताल पहुंचा दिया।

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार झारग्राम जिले के शिजुआ गांव निवासी मजदूर अमल बारिक कई दिनों से बुखार में तड़प रहा था। वह पिछले दिनों पड़ोसी राज्य से वापस लौटा था। उसे नाक बहने और खांसी की भी शिकायत थी। उसने लोगों से अस्पताल पहुंचाने की गुहार लगाई, लेकिन संक्रमण के डर से कोई आगे नहीं आया।

सोमवार को जब इसकी सूचना जब TMC के युवा नेता सत्यकाम पटनायक को मिली तो वह मदद के लिए उसके घर पहुंच गए।

युवा नेता पटनायक ने संदिग्ध कोरोना मरीज के घर पहुंचने से पहले बाजार से एक PPE किट खरीदी और उसे पहल लिया। इसके बाद वह बाइक लेकर मरीज के घर पहुंच गए।

इसके बाद उन्होंने मरीज को अपनी बाइक पर बिठाया और उसे लेकर गोपीबल्लभपुर अस्पताल पहुंच गए। वहां उन्होंने बारिक के साथ रहकर उसकी कोरोना की जांच कराई और फिर उसे वापस बाइक पर बिठाकर उसके घर छोड़ दिया। उनके इस काम की प्रशंसा हो रही है।

सत्यकाम पटनायक गोपीबल्लभपुर ब्लॉक 1 के तृणमूव यूथ विंग के नेता हैं और युवा वॉरियर क्लब के सदस्य भी हैं।

उन्होंने कहा, “मैंने फैसला किया कि मैं उसे पूरी सुरक्षा के साथ अस्पताल ले जाऊंगा, भले ही उसे कोरोना संक्रमण न हो। मैने सोचा था कि मौसम में बदलाव के कारण यह सामान्य वायरल भी हो सकता है।”

उन्होंने कहा कि वर्तमान में लोग कोरोना मरीजों से दूरी बना रहे हैं, लेकिन यह ठीक नहीं है। उनका इलाज कराना चाहिए।

झारग्राम के एक अन्य TMC नेता उमा सोरेन ने कहा कि तृणमूव यूथ विंग ने मजबूर और पीडितों की मदद करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

उन्होंने लोगों से किसी भी प्रकार की समस्या आने पर उनसे या उनकी विंग के सदस्यों से संपर्क करने की अपील की है।

उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया है कि वह और उनकी विंग किसी भी परिस्थिति में लोगों की मदद के लिए तैयार रहेगी। एक-दूसरे की मदद से ही हल निकलेगा।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...