ख़बरें

उप्र: एफआईआर कराने थाने पहुंची लड़की से पुलिस ने कहा ‘पहले डांस करो’

तर्कसंगत

Image Credits: Satyasamachar

August 18, 2020

SHARES

सोशल मीडिया पर एक किशोर लड़की का एक चौंकाने वाला वीडियो सामने आया है, जिसमें लड़की ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश के कानपुर के गोविंद नगर पुलिस स्टेशन के एक इंस्पेक्टर ने उसे अपने मकान मालिक के भतीजे के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के बदले में नाचने के लिए कहा।

 


राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने कानपुर के गोविंदनगर इंस्पेक्टर पर एफआईआर दर्ज करने के बदले एक किशोरी पर नाचने का दबाव बनाने के संगीन आरोपों को गंभीरता से लिया है। एनएचआरसी ने डीजीपी से मामले में छह सप्ताह में विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। साथ ही प्रकरण में की गई कार्रवाई की जानकारी भी मांगी है।

एनडीटीवी के मुताबिक राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है। आरोप है कि मकान मालिक के भतीजे के विरुद्ध शिकायत करने गई किशोरी से बदसलूकी की गई। आयोग ने पीड़ित परिवार की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में हुई कार्रवाई का ब्योरा भी मांगा है। वहीं सीओ गोविंदनगर ने इंस्पेक्टर पर लगे आरोपों को निराधार बताया है। कहा है कि किशोरी की ओर से पुलिस पर दबाव बनाने के लिए एक वीडियो वायरल किया गया है।

अपने परिवार के साथ लड़की गोविंद नगर के डाबौली पश्चिम इलाके में किराए के मकान में रहती है। लड़की के परिवार ने अपने मकान मालिक के भतीजे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की थी इस आरोप के साथ कि उसने किशोरी से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था और कुछ दिनों पहले परिवार को जबरन घर खाली करने के लिए कहा था।

लड़की की मां ने कहा कि आरोपी अनूप यादव 26 जुलाई को उनके घर में घुस आया और उन पर हमला किया। “7 अगस्त की रात, उसने मेरी बेटी के साथ छेड़छाड़ की जब वह बाजार से घर वापस आ रही थी। इसी की शिकायत करने के लिए मेरी बेटी ने इंस्पेक्टर गोविंद नगर, अनुराग मिश्रा से संपर्क किया, तब उसने मेरी बेटी को पहले उसके सामने डांस करने के लिए कहा और तब वह उसकी शिकायत दर्ज करेगा, “लड़की की मां ने आरोप लगाया।

गोविंद नगर सर्किल अधिकारी विकास कुमार पांडेय ने कहा कि संपत्ति पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के बीच पुराना विवाद था। पुलिस ने कहा कि आरोप में कोई दम नहीं है। प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि लड़की ने पुलिस पर दबाव बनाने के लिए वीडियो को वायरल किया है। हालांकि, इस संबंध में एक जांच चल रही है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...