सचेत

कर्नाटक में गाइडलाइन में बदलाव, कोई क्वारंटाइन नहीं, सेवा सिंधु पोर्टल पर कोई पंजीकरण नहीं

तर्कसंगत

Image Credits: Bangalore Mirror/Citizen Matters

August 25, 2020

SHARES

कर्नाटक की सरकार ने कोरोना वायरस जैसे मुश्किल समय में उसके बढ़ते प्रकोप को देखते हुए नागरिको की सुरक्षा और स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए कई सारे गाइडलाइन जारी की थी. लेकिन अब कर्नाटक सरकार ने इन गाइडलाइन में बदलाव करते हुए अंतरराज्यीय यात्रियों के लिए संशोधित दिशानिर्देश जारी किए हैं जो कि काफी चौंकाने वाले हैं. इस नए गाइडलाइन के मुताबिक यात्रियों को सेवा सिंधु पोर्टल पर पंजीकरण अब नहीं करना होगा. आपको बता दें इसके पहले किसी भी राज्य से कर्नाटक आने के समय यात्री को  इसके साथ ही यात्री को सेवा सिंधु पोर्टल पर अपनी पूरी और सही जानकरी देनी होती थी. साथ ही एयरपोर्ट या स्टेशन सेबाहर आते वक़्त हाथ पर मुहर लगाया  जाता था जो कि अब अनिवार्य नही होगा. लाइव मिंट के मुताबिक संशोधित गाइडलाइन के मुताबिक राज्य की सीमाओं, बस स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर 14-दिवसीय क्वारंटाइन और COVID-19 की चिकित्सा जांच नही करानी होगी. इन सबके बावजूद सरकार ने ये भी कहा है कि इन सारछूट के अलावे अगर किसी नागरिक या यात्री में कोरोना का लक्षण नजर आता है तो उसके सेल्फ क्वारंटाइन होना पड़ेगा. इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 14410 भी जारी किया गया है. ज़्यादा जानकारी के लिए इसकी मदद ली जा सकती है.

 

 

आपको ये भी बता दें कि कोरोना के मरीजों की संख्या कर्नाटक में तेजी से बढ़ रही है, वहीं बड़ी संख्या में लोग ठीक भी हो रहे हैं. आंकड़ो पर नजर डालें तो रविवार को राज्य में 5,938 नए COVID मामले सामने आए थे. लेकिन एक दिन के भीतर 4,996 डिस्चार्ज भी हुए. वहीं एक दिन में कुल 68 मौतें दर्ज की गई. इसी के साथ कर्नाटक में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल मामलों की संख्या 2,77,814 हो गई है. जिसमें 1,89,564 डिस्चार्ज और 4,683 मौतें शामिल हैं.

गौरतलब हो कि इससे पहले राज्य की सरकार ने जारी स्वास्थ्य दिशानिर्देश जारी कहा था कि अब घर में होम क्वारंटाइन में रहने वाले मरीजों को लक्षण दिखने या नमूना लिए जाने के 10वें दिन और लगातार तीन दिन तक बुखार नहीं आने पर छुट्टी मिल सकती है. कनार्टक सरकार की ओर से घर में देखदेख के लिए जारी संशोधित दिशा-निर्देश के अनुसार इसके बाद मरीजों को अगले सात दिन तक घर में ही रहने और खुद से अपने स्वास्थ्य पर निगरानी रखने की सलाह दी गई है. निर्देश में कहा गया है कि होम क्वारंटाइन अवधि पूरा होने के बाद जांच की कोई जरूरत नहीं है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...