ख़बरें

हैदराबाद की मस्जिद में खुला क्लिनिक, 1.5 लाख लोगों का मुफ्त में होगा इलाज

तर्कसंगत

Image Credits: Times Of India

August 28, 2020

SHARES

हैदराबाद ओल्ड सिटी की एक मस्जिद ने एक विशेष महिला और बाल क्लिनिक खोला है। इस क्लिनिक में सभी धर्मों के लोगों को प्रयोगशाला परीक्षण सहित मुफ्त चिकित्सा प्रदान की जाएगी। यह मस्जिद 10 साल से कम उम्र के सभी बच्चों को मुफ्त में भोजन भी देगी।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की  रिपोर्ट के मुताबिक यह राजेंद्रनगर मंडल में वादी-अल-महमूद के आसपास 31 बस्तियों के पांच लाख लोगों को उपचार प्रदान करेगा। सेवा के लिए कोई शुल्क नहीं हैं।

इस क्लिनिक में महिलाओं और बच्चों को उपचार प्रदान किया जाएगा। केंद्र में उपलब्ध सुविधाओं में नेबुलाइजेशन, इंट्रा वीनस फ्लूइड रिप्लेस्मेंट, ड्रेसिंग आदि शामिल हैं। यह एक फ्री लैब्रोटरी की सुविधा भी प्रदान करेगा।

इस क्लिनिक में गर्भवती महिलाओं को पोषक आहार और दवाइयाँ देकर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

केंद्र को SEED, US के सहयोग से हैदराबाद के एनजीओ हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन (HHF) द्वारा चलाया जा रहा है। केंद्र का विवरण देते हुए, HHF के मैनेजिंग ट्रस्टी, मुजतबा हसन असकरी ने कहा कि क्लिनिक में डॉक्टर और सहयोगी स्टाफ महिलाएं होंगी।

इस सेण्टर में गायनेकोलॉजिस्ट, डेंटिस्ट, फिजिशियन, चाइल्ड स्पेशलिस्ट, डेंटल सर्जन, डायटीशियन, नर्स, कौंसलर और फ्रंट डेस्क स्टाफ की भी सुविधा होगी।

इस सेण्टर में गर्भवती महिलाओं के लिए TIFFA स्कैन की भी सुविधा होगी।

मुजतबा हसन असकरी  ने मीडिया को ये भी बताया कि ये सेण्टर एमएम पहाड़ी, सुलैमान नगर, चिंतालमेट, भोपाल नगर, हसन नगर, एनटीआर नगर, इंदिरा नगर, बड़ा इमाम की पहाड़ी आदि इलाकों के लोगों को इस क्लिनिक का फायदा मिलेगा।

क्लिनिक को मस्जिद के पहले तल्ले पर खोला गया है। मस्जिद के खतीब, मौलाना फईक खान ने कहा, “हम अपनी मस्जिद से स्वास्थ्य सेवा स्थापित करने के इच्छुक थे, जो बस्तियों के सैकड़ों गरीब लोगों के लिए अल्लाह की दया का स्रोत होगी, और हमें खुशी है कि अल्लाह के घर एक अच्छा कारण के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है धर्म या विश्वास की परवाह किए बिना ”।

HHF के मैनेजिंग ट्रस्टी मुजतबा हसन असकरी ने कहा, “सामुदायिक स्वास्थ्य देखभाल केंद्र लगभग 30 राज्य संचालित अस्पतालों में रेफरल लिंक के रूप में काम करेगा”। उन्होंने कहा कि बस्तियों के बहुत कम लोग सरकारी अस्पतालों में जाते हैं और मस्जिद में सरकारी अस्पतालों में वंचितों के इलाज की सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि केंद्र अन्य सेवाओं जैसे मुफ्त डायग्नोस्टिक्स, कार्डियो-पल्मोनरी रिससिटेशन, घाव प्रबंधन, मातृ देखभाल और फिजियोथेरेपी की सुविधा की भी पेशकश करेगा।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...